बदजुबानी बनी हत्या का कारण, तीन हत्यारे गिरफ्तार

गाजीपुर। पुलिस ने पच्चीस फरवरी को सदर कोतवाली क्षेत्र में हुए हत्याकाण्ड का सफल अनावरण करते हुए घटना मे शरीक तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। हत्यारों की  निशानदेही पर, पुलिस ने आलाकत्ल गड़ासा, मृतक का मोबाइल व घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल बरामद कर लिया। 

          स्वाट/सर्विलांस व थाना कोतवाली सदर पुलिस को यह कामयाबी मुखबीर की सूचना पर मंगलवार को क्षेत्र के महाराजगंज तिराहे के पास मिली। संयुक्त पुलिस टीम ने अभियुक्त राहुल कुमार पुत्र अवधेश राम निवासी रजागंज थाना कोतवाली जनपद गाजीपुर, सुनील कुमार पुत्र सुदामा राम निवासी बयेपुर देवकली थाना कोतवाली जनपद गाजीपुर और अम्बिका उर्फ बोस बिन्द पुत्र राम किशुन बिन्द निवासी बयेपुर देवकली थाना कोतवाली जनपद गाजीपुर को गिरफ्तार किया। पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से मृतक का मोबाइल एवं घटना मे प्रयुक्त तीन मोबाइल, दो मोटर साइकिल तथा अभियुक्तगण की निशानदेही पर घटना मे प्रयुक्त आलाकत्ल गड़ासा ग्राम चकईसा उर्फ बकराबाद गांव की सीमा मे गेहूं के खेत से बरामद कर लिया।

       उल्लेखनीय है कि थाना कोतवाली सदर क्षेत्र के ग्राम सकरताली में गाँव के बाहर एक अधेड़ व्यक्ति का लहुलुहान शव मिला था जिसके सिर से काफी खून निकला है। मृतक की पहचान जितेंद्र राम पुत्र कतवारू राम उम्र करीब 45 वर्ष निवासी रजागंज थाना कोतवाली गाजीपुर के रूप में की गयी। पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह ने मौका मुआयना कर घटना के पर्दाफाश हेतु मातहतों को शीघ्र कार्रवाई के आवश्यक निर्देश दिए थे। इसके सम्बन्ध में मृतक के भाई महेन्द्र द्वारा थाना कोतवाली 25 फरवरी को मुकदमा पंजीकृत कराया गया था।

      पूछताछ से अभियुक्त राहुल कुमार द्वारा बताया गया कि मृतक जितेन्द्र राम, रिश्ते मे मेरे चाचा लगते थे। वह अक्सर मुझे व मेरे पिता को गाली गुप्ता देते व धमकाते रहते थे। इससे तंग आकर मैंने अपने पिता के मौसी का लडका सुनील कुमार से सम्पर्क कर जितेन्द्र को रास्ते से हटाने के लिये बात किया और फिर अम्बिका उर्फ बोस बिन्द से भी बात हुयी। इसके लिए 10 हजार रुपया हत्या हेतु जितेन्द्र राम को शराब पिलाने हेतु तय हुआ। योजना के अनुसार इन लोगों ने जितेन्द्र को दिनांक 24 फरवरी 2024 को ग्राम पीथापुर में देशी शराब के ठेके पर शराब पिलाया फिर राहुल कुमार द्वारा अपने मोटर साईकिल पर जितेन्द्र  एवंम अम्बिका उर्फ बोस को बैठाकर तथा सुनील कुमार अपने मोटर साईकिल से घुमाते हुए बबेड़ी ग्राम की सीमा में ले गये। वहीं राहुल कुमार द्वारा गड़ासे से जितेन्द्र के सिर पर कई वार किया जबकि सुनील राम तथा अम्बिका उर्फ बोस उस दौरान मृतक को पकडे रहे। हत्या करने के पश्चात शव को नीचे खेत मे ढकेल कर घटना मे प्रयुक्त आलाकत्ल को चकईसा उर्फ बकराबाद की सीमा में गेहूं के खेत मे फेक दिये। मृतक का मोबाइल अभियुक्त अम्बिका उर्फ बोस, अभियुक्त राहुल कुमार से 10 हजार रुपया लेने के लिए अपने पास रखा था। अम्बिका उर्फ बोस बिन्द पूर्व में हत्या के आरोप में जेल जा चुका है। 

     गिरफ्तार अभिक्तों के विरुद्ध विधिक कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उन्हें न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

Visits: 79

Leave a Reply