मंकीपॉक्स – बचाव हेतु करें उपाय

गाजीपुर। कोरोना महामारी के बाद अब मंकीपॉक्स वायरस का संक्रमण फैल रहा है, जिसको लेकर स्वास्थ्य महकमा सक्रिय हो गया है। सोमवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरगोविंद सिंह ने मंकीपॉक्स के लक्षण और उससे बचने के उपाय के बारे में मीडिया के माध्यम से लोगों को जानकारी दी है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरगोविंद सिंह ने बताया कि मंकीपॉक्स एक वायरल जूनोटिक बीमारी है। जोकि स्व सीमित होती है। यह बीमारी मुख्य रूप से मध्य और पश्चिम अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय वर्षा वन क्षेत्रों में होती है। कभी-कभी अन्य क्षेत्रों में भी रोग का प्रसार हो जाता है। इस बीमारी के लक्षण चेचक से मिलते जुलते हैं जो कि 2 से 4 सप्ताह तक प्रदर्शित होते हैं। इस बीमारी में मरीज में बुखार,चकते, सूजी हुई लिम्फनोड और बदन दर्द जैसे लक्षण पाये जाते हैं।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ उमेश कुमार ने मंकीपॉक्स से बचने के उपाय के बारे में बताते हुए कहा कि लक्षण युक्त मरीज जानवरों के संपर्क में आने से बचें। हाथों को साबुन एवं पानी अथवा सैनिटाइजर से नियमित अंतराल पर स्वच्छ रखें। मास्क का हमेशा प्रयोग करें अधपके व कच्चे मांस का सेवन न करें। उन्होंने कहा कि लक्षण आने पर तत्काल निकट के सरकारी स्वास्थ्य केंद्र के आईडीएसपी विभाग से संपर्क कर अपना इलाज कराएं। किसी भी झोलाछाप चिकित्सक से इलाज से बचेंप। उन्होंने बताया कि ज्यादातर मरीजों में यह बीमारी अपने आप ठीक हो जाती है। बहुत ही कम ऐसे मरीज होते हैं जिसमें जटिलता पाई जाती है जो अधिकांश इलाज के बाद ठीक हो जाता है।


Hits: 372

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: