कार्यक्रमों से बच्चों में होता है बौद्धिक विकास और व्यक्तित्व निर्माण

चेतना-प्रवाह’ कार्यक्रम में विद्यार्थियों से किया संवाद 

गाजीपुर। साहित्य चेतना समाज के ‘चेतना-प्रवाह’ कार्यक्रम का आयोजन नगर के नजदीकी गाँव चकहुसाम में करते हुए, विद्यार्थियों से संवाद किया गया। कार्यक्रम में काफी संख्या में गाँव के विद्यार्थी एवं उनके अभिभावकजन उपस्थित रहे।

       कार्यक्रम के संयोजक उसी गाँव के उपेन्द्र यादव ने कार्यक्रम में उपस्थित संस्था के संस्थापक अमरनाथ तिवारी अमर एवं संगठन सचिव प्रभाकर त्रिपाठी का स्वागत किया।उन्होंने अपने विद्यार्थी जीवन में संस्था के तत्वावधान में आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेकर चयनित व पुरस्कृत होने और रेलवे में नौकरी तक के सफर को सभी से साझा किया। संस्था द्वारा विद्यार्थियों के बौद्धिक विकास और उनके व्यक्तित्व निर्माण हेतु किये जा रहे प्रयासों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए विद्यार्थियों से संस्था द्वारा आयोजित विभिन्न गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रेरित किया।

            संस्था के संस्थापक अमरनाथ तिवारी अमर ने संस्था के उद्देश्य एवं गतिविधियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि संस्था का प्रमुख उद्देश्य विद्यार्थियों एवं युवाओं में छिपी प्रतिभा को मुखरित व उजागर कर उन्हें मंच प्रदान करना है। बिना किसी शासकीय वित्तीय सहायता के संस्था वर्षपर्यंत सक्रिय रहकर विभिन्न प्रकार के साहित्यिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करती रहती है जिससे एक स्वस्थ समाज का निर्माण हो सके। संस्था प्रतिवर्ष अपने वार्षिक समारोह में किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर जनपद का गौरव बढ़ाने वाले गाजीपुर की विभूति को ‘गाजीपुर गौरव सम्मान’ से सम्मानित करती है, जिससे विद्यार्थी एवं युवा इनके व्यक्तित्व व कृतित्व से प्रेरणा प्राप्त कर सकें।

             संगठन सचिव प्रभाकर त्रिपाठी ने  विद्यार्थियों हेतु प्रतिवर्ष आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतियोगिताओं के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से जयराम यादव,वीरेन्द्र यादव,विन्ध्याचल यादव,मुसाफिर यादव, आंचल, काजल, अस्मिता, अलका, सोनम, शोभा, शिखा, अग्रिमा, संदीप, मुकेश, अनुराग आदि उपस्थित रहे। अंत में कार्यक्रम संयोजक उपेन्द्र यादव ने सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

Views: 77

Leave a Reply