विद्युत स्पार्किंग से राख बनी गेहूं की फसल

बिजली विभाग की कमी से होती है स्पार्किंग

गाज़ीपुर। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते प्रति वर्ष किसानों को भारी क्षति उठानी पड़ती है। मरम्मत और देख-रेख के अभाव में विद्युत खम्भों पर लटके ढीले तारों की स्पार्किंग से निकली चिन्गारियां आये दिन खेतों में गिरती रहती है।

       सोमवार को सादात थाना क्षेत्र के ग्राम डोरा निवासी तिलकू राम के साथ ऐसा ही हादसा हुआ। बिजली के तार में स्पार्किंग के चलते गिरीं चिंगारियों के कारण करीब 10 बिस्सा से अधिक खेत में गेहूं की खड़ी फसल जलकर खाक हो गई। ग्रामीणों ने काफी प्रयास के बाद आग पर काबू पा लिया, वरना अगल बगल के खेतों में खड़ी फसल भी आग की भेंट चढ़ सकती थी। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि डा. अनिल राय ने बिजली विभाग के जेई और एसडीओ के साथ ही क्षेत्रीय लेखपाल तथा एसडीएम को तत्काल इसकी जानकारी देते हुए पीड़ित किसान को मुआवजा प्रदान करने की सिफारिश की। मौके पर पहुंचे लेखपाल ने अपनी रिपोर्ट लगाकर तहसील प्रशासन को प्रेषित करने का आश्वासन दिया। 

     क्षुब्ध ग्रामीणों का कहना है कि बिजली विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही का नतीजा है कि प्रत्येक वर्ष किसानों की फसलों को काफी नुकसान होता है। खेतों के ऊपर से गुजर रहे बिजली के तार काफी ढीला होकर लटक रहे हैं। इनकी मरम्मत के नाम पर महज खानापूर्ति की जाती है। किसानों ने विभागीय अधिकारियों तथा जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए विद्युत तारों की मरम्मत कराकर दुरुस्त कराने की मांग जनहित में की है।

Visits: 58

Leave a Reply