जिलाधिकारी ने किया हरिशंकरी का पौधारोपण

गाजीपुर। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रभागीय वनाधिकारी, सामाजिक वानिकी प्रभाग द्वारा राजकीय सिटी इंटर कॉलेज में हरिशंकरी वृक्षारोपण कार्यक्रम में जिलाधिकारी द्वारा हरिशंकरी का पौधारोपण किया गया।
पौधारोपण के उपरांत जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित अधिकारी गणों, स्कूल के बच्चों एवं एनसीसी कैडेट्स को पर्यावरण संरक्षण की शपथ दिलाई गई। इसके पश्चात जिलाधिकारी द्वारा इस बार के विश्व पर्यावरण दिवस की थीम के बारे में विस्तार से बताया गया। उन्होंने उपस्थित लोगों से पर्यावरण प्रदूषण को रोकने एवं अधिक से अधिक पौधे लगाने का अनुरोध किया। उन्होंने बच्चों को पर्यावरण संरक्षण हेतु सदैव तत्पर रहने हेतु जागरूक किया।उन्होंने जिले के वृक्षादन को बढ़ाने की भी अपील की। इसके बाद प्रभागीय वनाधिकारी द्वारा हरि शंकरी पौध के बारे में बताया गया। जिसमें पीपल, बरगद एवं पाकड़ का संयुक्त वृक्षारोपण किया जाता है। पीपल में भगवान विष्णु (हरि), बरगद में भगवान शिव का रूप माना जाता है। यह पुरातन काल से चली आई वृक्षारोपण का एक स्वरूप है। ये तीनों पौधे पर्यावरणीय दृष्ट से अत्यंत उपयोगी हैं और साल भर हरे भरे रहते है एवम भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन देते हैं। साथ ही साथ वन्य जीवों के लिए भी अत्यंत उपयोगी है। प्रभागीय वनाधिकारी द्वारा बताया गया कि आज विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मुख्यालय लखनऊ में कांफ्रेंस ऑफ पंचायत के आयोजन के उपलक्ष्य में जिले के प्रत्येक ग्राम पंचायत में हरिशंकरी पौध का रोपण किया जा रहा है। इस कार्यक्रम को क्षेत्रीय वन स्टाफ द्वारा क्रियान्वित किया जा रहा है जिसमे स्थानीय जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है। इस अवसर पर वन विभाग की नर्सरियों में निःशुल्क पौध का वितरण भी किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण), मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिलाविद्यालय निरीक्षक, प्रधानाचार्य एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों ने भाग लेकर पौधरोपण किया।
इसी क्रम में मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता ने कहा कि प्रकृति हमारी सबसे बड़ी धरोहर है, अर्थवेद में भी कहा गया है कि ‘‘प्रकृतिः रक्षति रक्षिता…‘‘ अर्थात प्रकृति से सुरक्षा पाते रहने के लिए उसका संरक्षण करना जरूरी है, हमारी जिम्मेदारी है कि हम इसे सजोकर रखे और ज्यादा से ज्यादा पौधों को लगाकर इस धरा को हरा भरा बनायें। इसके साथ ही उन्होने कहा कि प्रदूषण हमारे जीवन एवं प्राकृतिक मौसम पर प्रभाव डालता है। इस हेतु प्रदूषण रोकने के लिए हम सबको यह शपथ लेनी होगी कि प्लास्टिक, पॉलीथीन का प्रयोग नहीं करेंगे। उन्होंने जनपद वासियों से अपने आस-पास साफ-सफाई रखने एवं वृक्ष लगाने को कहा। उन्होने प्रदूषण से मुक्त करने के साथ-साथ वर्षा ऋतु में अधिक से अधिक वृक्ष लगाने हेतु प्रोत्साहित एवं प्रेरित किया। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने कहा कि हम सब लोगो को वृक्षों के महत्व को समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि वनों एवं वृक्षों से शुद्ध वायु, जल, वन प्राणियों को अनेको लाभ प्राप्त होते हैं। मानव जीवन को सुखी व समृद्ध बनाने में असीमित योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण की रक्षा के लिये सामाज के प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए तथा इसके साथ ही उसकी देख-भाल भी अत्यन्त आवश्यक है। पौधों के लगातार कटान से जलवायु में परिवर्तन होता जा रहा है। जिसके कारण दिन प्रतिदिन वर्षा में कमी आ रही है।


Hits: 88

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: