रोडवेज ! एआरएम के विरुद्ध कर्मचारियों ने काटा बवाल

गाजीपुर,15 फरवरी 2020। एआरएम रोडवेज के क्रियाकलापों व मनमानेपन से क्षुब्ध रोडवेज कर्मियों ने आज जमकर बवाल काटा। अपनी वेतन कटौती से क्षुब्ध रोडवेज के चालकों व परिचालकों ने रोडवेज परिसर में एआरएम कार्यालय के समक्ष जमकर हंगामा किया। एआरएम की मौजूदगी में कर्मचारियों ने जबरदस्त नारेबाजी और प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि एआरएम अपने तुगलकी फरमान के चलते सरकार की मंशा के विरुद्ध भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाकर मनमानी पर उतारु हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पहले से संविदा पर कार्यरत चालकों व परिचालकों को काम न देकर,उनका नाम काटकर उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर संविदा पर चालकों व परिचालकों की भर्ती आयोजित कर धन उगाही की जा रही है। बताया की वर्तमान में जिले में रोडवेज की 83 बसों हैं और संचालन मात्र 20 बसों का ही हो रहा है। एक तरष जहां सरकार जनता को सुविधा मुहैया कराने हेतु बस संचालन पर जोर दे रही है, वहीं तानाशाह एआरएम जनता की सुविधाओं पर ग्रहण लगाने में लगा हुआ है। जिले में कम बसों के संचालन से विभिन्न मार्गों पर बसों का आवागमन ठप है,जिससे क्षेत्रीय यात्रियों को काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है।


प्रदर्शनकारियों का कहना रहा कि कंडक्‍टरों व ड्राइवरों का पिछले छह माह में लगभग तीन लाख रुपया कटौती किया गया है,जिससे उनके सामने परिवार के भरणपोषण में आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है। उन्होंने शीघ्र अपने कटौती की धनराशि के भुगतान की मांग की है।
एआरएम सोहेल अहमद का कहना है कि पहले जो बस अपने रुट पर आमदनी अधिक लाती थी,आज वही बस अब उतने ही डीजल में कम आमदनी ला रही है। इसी के कारण छह माह में कंडक्‍टर व ड्राइवर के वेतन से तीन लाख रुपये की कटौती की गयी है।
बाद में एआरएम ने कर्मचारी संघ के अध्‍यक्ष अरविंद सिंह व महामंत्री जयप्रकाश सिंह को बुलाकर वार्ता की और आगे से कोई कटौती न करने की बात कही।एआरएम के आश्वासन के बाद बाद कर्मचारी नेताओं ने प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर प्रदर्शन समाप्त कराया।

Hits: 119

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: