पुलिस देख कार में बच्ची छोड़ भागा हिस्ट्रीशीटर

हिस्ट्रीशीटर की खोज में लगी पुलिस

गाज़ीपुर। अपहृत छोटी बच्ची को कार से बरामद कर उसे उसके परिजनों को सौंपकर सादात पुलिस ने जो सराहनीय कार्य किया है, उसकी पूरे क्षेत्र में चर्चा चल रही है।

      बताते चलें कि शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े दस बजे सादात मुख्य बाजार की तरफ से एक स्विफ्ट कार पुराना सिनेमा हाल होते हुए सादात थाने की तरफ जाने वाली सड़क पर जा रही थी। उसी समय सामने से बालू लदा ट्रैक्टर आने से रास्ता अवरुद्ध हो गया। क्तभी पीछे से पुलिस की गाड़ी को आते देखकर कार चालक कार को लॉक कर मौके से फरार हो गया।

      कार आगे नहीं बढ़ने से रास्ता जाम होते देखकर पुलिस गाड़ी से उतरकर पुलिसकर्मी जब कार के पास पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर सुन्न रह गये, क्योंकि कार लाक थी और चालक नदारत था। वहीं कार के भीतर बन्द करीब ढाई साल की बच्ची बुरी तरह रो रही थी। 

        पुलिस ने आसपास में चालक की काफी खोजबीन की परन्तु उसका पता न चलने पर पुलिस ने आसपास के लोगों की मदद से कार का शीशा तोड़कर रोती हुई बच्ची को बाहर निकाला। पुलिस ने कार के अंदर से बच्ची के साथ ही दारू और गिलास के साथ ही मोबाइल फोन भी बरामद किया। पुलिसिया छानबीन में पता चला कि बच्ची क्षेत्र के कटयां चट्टी निवासी अनिल राम की पुत्री अनन्या उर्फ परी है। अनिल पूना में रहकर मेहनत मजदूरी करते हैं।

      वहीं थाने में अपनी बच्ची होने की सूचना मिलने पर बच्ची की दादी शारदा देवी, मां ज्योति सहित कई परिजन थाने पहुंचे और बच्ची को सही सलामत पाकर भावविभोर होकर रो पड़े। उन्होंने संभावना व्यक्त की कि घर के बाहर खेलते समय कोई युवक ले गया होगा। 

    इस सम्बन्ध में थानाध्यक्ष सादात टआलोक त्रिपाठी ने बताया कि कार चालक सरदरपुर गांव निवासी रामवतार यादव पुत्र कालीचरण यादव था, जो थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उन्होंने संभावना जताई कि पुलिस के डर से वह कार छोड़ कर भागा होगा, उसकी तलाश कर आगे की कार्रवाई की जायेगी। पुलिस ने प्रमाण के आधार पर बच्ची को उसके परिजनों को सौंपते हुए भविष्य में सतर्क रहने की सलाह दी।

Visits: 254

Leave a Reply