ससमारोह मनाई गई यश भारती पुरस्कार से सम्मानित क्रांतिदर्शी पत्रकार विजय कुमार की जयंती 

गाजीपुर। यश भारती सम्मान से सम्मानित जीवंत व क्रांतिदर्शी पत्रकार विजय कुमार की 92 वीं जयंती ससमारोह सम्पन्न हुई। इस अवसर पर विजय कुमार स्मारक न्यास एवं प्रेस क्लब गाजीपुर के संयुक्त तत्वाधान में लंका मैदान स्थित सभागार में विजय श्री सम्मान एवं पत्रकारिता के वर्तमान संदर्भ में ‘विजय बाबू’ विषयक संगोष्ठी का आयोजन सम्पन्न हुआ।

      कार्यक्रम का शुभारंभ विजय कुमार जी की उनके बड़ी बाग  स्थित आवास पर मूर्ति के अनावरण तथा लंका मैदान के सभागार में विजय श्री सम्मान  के अवसर पर उनके चित्र पर अतिथियों द्वारा पुष्पार्चन  व दीप प्रज्वलन कर किया गया। स्वागत गीत अनीता यादव ने प्रस्तुत किया। 

          समारोह के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री दयाशंकर मिश्र दयालु ने कहा कि विजय कुमार जी उस परंपरा और उस युग का स्मरण कराते हैं जो मिशन त्याग और तपस्या का युग रहा है। तपस्या कहने का तात्पर्य ऐसी भूमिका से है जो केवल आजीविका या नौकरी नहीं बल्कि उदात्त सामाजिक दायित्व के भाव से किए गए कार्य का पर्याय रही है, भारतीय पत्रकारिता ही नहीं वैश्विक पत्रकारिता की मूल थाती उसकी यही मिशनरी भावना या मशीनरी स्प्रिट रही है।

वर्तमान पत्रकारिता और पत्रकारों के लिए विजय कुमार जी बहुत कुछ अनुकरणीय छोड़ गए हैं। निष्पक्षता, सामाजिक मूल्यों और मानव अधिकारों के संरक्षण के रूप में एक पत्रकार के दायित्व के संदर्भ में उनका जीवन और कृतित्व उच्च आदर्श है। आप  पत्रकारिता विधा में ग्राउंड रिपोर्टिंग विधा के सूत्रधार रहे। प्राकृतिक आपदा रही हो या अकाल दुर्भिक्ष की समस्या मानवाधिकार के प्रश्न रहे हो, या श्रमिक कारखानों की समस्या विजय कुमार जी ने इन समस्याओं को पीड़ितों की आवाज बन कर उन्हें अपनी लेखनी से मुखर किया।

        विजय श्री सम्मान से अलंकृत काशी पत्रकार संघ के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार विकास पाठक ने कहा कि विजय कुमार जी जन सरोकारों से जुड़े बेजोड़ पत्रकार थे । नई पीढ़ी को उनके बताए गए रास्ते पर चलने की जरूरत है। विजय श्री सम्मान से अभिभूत पाठक ने कहा कि आज तक जो सम्मान मिला था उसमें यह सम्मान सबसे भारी है

        काशी पत्रकार संघ के अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार डॉ अत्रि भारद्वाज ने  कहा कि विजय कुमार जी एक सिद्ध पत्रकार थे। उन्होंने आंचलिक पत्रकारिता को शीर्ष पर पहुंचाया।

जंगीपुर के युवा विधायक डॉ वीरेंद्र यादव ने कहा कि विजय बाबू ने मूल्यों पर आधारित पत्रकारिता की। उन्होंने पूर्वांचल की पत्रकारिता को नया आयाम दिया। नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष सरिता अग्रवाल ने कहा कि विजय बाबू जनपद की महान हस्ती थे, उन्होंने गरीबों के लिए भी संघर्ष किया। विशिष्ट अतिथि पूर्व कुलपति प्रोफेसर राम मोहन पाठक ने कहा कि विजय कुमार जी का पत्रकारिता के क्षेत्र में अवदान ऐतिहासिक है, आज की पत्रकारिता में पत्रकारों के लिए विजय जी का एक और कृतित्व तथा गुण सर्वथा अनुकरणीय है, वह है विषय की गुणवत्ता को गहराई से समझना और तब उसे पाठकों के लिए प्रस्तुत करना।

        पूर्व कुलपति प्रोफेसर हरिकेश सिंह ने कहा कि विजय बाबू ने स्वतंत्रता संग्राम में संघर्ष किया, कर्मचारियों की हक की लड़ाई के लिए कानपुर की जेल में बंद रहे, जिसमें गणेश शंकर विद्यार्थी रह चुके थे। वह खेत, मजदूर ,शोषित, पीड़ित, किसान नीति के समर्थक थे। वरिष्ठ अधिवक्ता रणजीत सिंह ने कहा कि विजय बाबू सामान्य परिवार से अपने जीवन की यात्रा प्रारंभ की और अपने कर्म के आधार पर बुलन्दियो पर पहुंचे। अघोर सेवा मंडल द्वारा सम्मानित होने के बाद तो उनके सम्मानों की झड़ी सी लग गई।

राम पूजन सिंह वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि विजय बाबू ने पत्रकारिता के मूल्यों के साथ हमेशा न्याय किया। अन्याय के खिलाफ उन्होंने बराबर अपनी लेखनी चलाई, वह कभी रुके नहीं, थके नहीं, और कभी झुके नहीं, उनका गाजीपुर समाचार निरंतरता बनाए हुए है ,इसमें इनके छोटे सुयोग्य पुत्र संजय बाबू की कर्मठशीलता दिखाई पड़ती है। इसका प्रकाशन निश्चित शुरू से चुनौतियों भरा है।

कार्यक्रम के अध्यक्ष पूर्व कैबिनेट मंत्री व विधायक ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि विजय कुमार जी सही मायने में समाजवादी थे। सादा जीवन उच्च विचार के पोषक रहे। उन्होंने आंचलिक पत्रकारिता के मूल्यों को स्थापित किया। वह किसी के पद चिन्हों पर चलने वाले नहीं थे खुद ही पदचिन्ह बना कर चला करते थे‌। उस पर आज की पीढ़ी को चलने की जरूरत है। उन्होंने अपने लिए कुछ नहीं किया और किसी से कुछ लिया भी नहीं, बस उन्होंने समाज को दिया ही दिया है। आज 92 वीं जयंती पर उनकी मूर्ति स्थापना एक ऐतिहासिक कड़ी है। हम पुष्पार्चन अर्पित करते हैं।

इस अवसर पर भारत विकास परिषद गाजीपुर के अध्यक्ष शिवकुमार, सचिव जितेंद्र मोहन, एच एन एस यादव ,पत्रकारगण बिंदेश्वरी सिंह, मुन्नीलाल पांडेय, शिवेन्द्र पाठक तथा डॉ अरविंद, अशोक सिंह पप्पू, हीरा यादव,अजय यादव, राहुल, सचिव, बुल्लू , उदय प्रताप यादव,राजेश्वर सिंह, चंद्रमा यादव ,सुनील सिंह ,अखिलेश सिंह, विश्व मोहन शर्मा, गजाधर शर्मा गणेश, कभी अनन्तदेव पांडेय, शेख जैनुलाब्दीन शिव शंकर यादव, सुभाष गुप्ता , अतुल्य श्रीवास्तव ,अरुण कुमार राय, अरविंद राय ,सुखविलास, सुशील अग्रवाल ,आनंद प्रकाश अग्रवाल, अनुपम आनंद श्रीवास्तव, राजीव सिंह , सूर्य प्रकाश राय, राज नारायण यादव, अनिल कुमार यादव ,कुमार मयंक, विनय श्रीवास्तव ,केतन यादव, भारत विकास परिषद मौनी बाबा शाखा के अध्यक्ष सुजीत  यादव , प्रवीण पंकज अभय सिंह यादव ,भरत यादव प्रमोद राय रून्नू,सुधीर सिंह, अजय कुमार, विपिन सिंह , प्रवीण कुमार गुप्ता, जय सूर्य भट्ट, अजय सिंह एडवोकेट ,भा वि प  की महिला संयोजिका डॉ उमा शर्मा, अंजना राय, मया नायर , आभा  सिन्हा, विंदुमती पांडेय, सुमन सिंह, उषा यादव ,माधुरी यादव, शर्मिला, रिंकी ,सपना, निर्मला, हंशा सहित गणमान्य जन उपस्थित रहे। वृक्त निवेदन डॉ अरुण कुमार राय आजाद, अतिथियों का स्वागत पत्रकार संजय कुमार तथा आभार ज्ञापन अजय कुमार और संचालन संतोष यादव ने किया।

Visits: 199

Leave a Reply