अब जेल के कैदी सीखेंगे कम्प्यूटर संचालन

गाज़ीपुर। अपराध से घृणा करें, अपराधी से नहीं के मूल वाक्य को चरितार्थ करते हुए, जिला जेल में बंद बन्दियों को कम्प्यूटर का तकनीकी प्रशिक्षण देकर उन्हें तकनीकी रूप से मजबूत बनाने हेतु प्रशिक्षण केन्द्र का शुभारम्भ शनिवार को किया गया।

          उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन द्वारा संचालित जनपद गाजीपुर की संस्था हाईटेक कॉलेज ऑफ मैनेजमेण्ट एवं ई-टेक्नालॉजी द्वारा आई.टी./ आई.टी.ई.एस. सेक्टर में, जिला कारागार में प्रशिक्षण केन्द्र का शुभारम्भ प्रभारी जेल अधीक्षक / जेलर राकेश कुमार वर्मा एवं एम०आई०एस० प्रबन्धक विकास यादव तथा कारागार प्रशासन के अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में संस्था द्वारा कम्प्यूटर प्रशिक्षण लेने वाले 40 बंदियों को परिचय पत्र तथा पुस्तक वितरण किया गया।

       प्रशिक्षण केन्द्र के शुभारम्भ के अवसर पर डिप्टी जेलर रविन्द्र सिंह यादव द्वारा बंदियों को कौशल विकास मिशन के महत्व के बारे मे विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी। हाईटेक कॉलेज ऑफ मैनेजमेण्ट एवं ई-टेक्नालॉजी के निदेशक प्रकाश गुप्ता ने वर्तमान समय में कम्प्यूटर शिक्षा को आवश्यक बताते हुए कहा कि कंप्यूटर और इंटरनेट के माध्यम से पूरी दुनिया की खबर व नवीनतम जानकारी पलक झपकते ही हमारे सामने पहुंच जाती है। इसके माध्यम से हम विश्व की ताजा तरीन जानकारियों से तत्काल रूबरू हो जाते हैं। डिजिटल माध्यम में हम किसी भी ग्रंथ व पुस्तक का अध्ययन कंप्यूटर पर कर सकते हैं। इसके माध्यम से हम पैसों का लेनदेन भी आसानी से कर सकते हैं। कम्प्यूटर शिक्षा की आवश्यकता को समझते हुए प्रदेश सरकार ने जेल में भी इसके प्रशिक्षण देने की व्यवस्था सुनिश्चित की है। यहां से बाहर जाकर जहां आप इसका इस्तेमाल कर समाज का भला कर सकेंगे वही इसे रोजगार के रूप में अपनाकर अपना और अपने परिवार का जीविकोपार्जन भी कर सकेंगे।

इस मौके पर जेलर राकेश कुमार वर्मा, डिप्टी जेलर रविन्द्र सिंह यादव, कमलचन्द, श्रीमती सुखवती देवी,  रविन्द्र सिंह, शिक्षाध्यापक धर्मेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, अभय कुमार मौर्य, संस्था निदेशक प्रकाश गुप्ता के अलावा प्रशिक्षण हेतु चयनित बंदियों ने प्रतिभाग किया।

Visits: 214

Leave a Reply