खुलासा! अपने पुत्र के साथ मिलकर साले ने की थी कलाम की हत्या

गाजीपुर। बहरियाबाद थाना क्षेत्र के चकफरीद कुटिया के कब्रिस्तान की झाड़ियों में गत ग्यारह जून को पेड़ से लटके मिले शव के रहस्य से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है।
       बताया गया कि बहरियाबाद थाना क्षेत्र के चकफरीद स्थित ससुराल में रहकर पशुओं की खरीद फरोख्त करने व्यवसायी कलाम की हत्या उसके साले मुस्तफा कुरैशी पुत्र रसूल कुरैशी तथा अरमान कुरैशी पुत्र मुस्तफा कुरैशी निवासीगण ग्राम चकफरीद थाना बहरियाबाद जनपद गाजपुर ने गला घोंटकर की थी।
  उक्त जानकारी पुलिस अधीक्षक डा.ओमप्रकाश सिंह ने आज अपने कार्यालय में पत्रकार वार्ता में दी।
     उल्लेखनीय है कि बहादुरगंज निवासी कलाम कुरैशी की बीते शुक्रवार को बहरियाबाद थाना क्षेत्र के चकफरीद कुटिया के कब्रिस्तान की झाड़ियों में, जमीन से महज ढाई-तीन फुट उंचाई पर लटकता शव मिला था। वह चकफरीद निवासी मुस्तफा कुरैशी की गूंगी बहन आसमां के साथ शादी करके वहीं ससुराल में रहता था।
   घटना की सूचना पर पहुंची बहरियाबाद पुलिस ने मृतक के साले मुस्तफा से तहरीर लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेंज दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटने की पुष्टि हुई।
    बहादुरगंज से आये मृतक के भाई इस्लाम कुरैशी ने, बहरियाबाद क्षेत्रान्तर्गत ग्राम चकफरीद में अब्दुल कलाम कुरैशी पुत्र स्व. मुहम्मद सईद कुरैशी निवासी वार्ड नं0 12 मोहल्ला कसाब टोला कस्बा बहादुरगंज थाना कासिमाबाद की हत्या के सम्बन्ध में 12 जून को मुस्तफा कुरैशी के विरुद्ध नामजद तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया था।
       जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने मंगलवार को अभियुक्त मुस्तफा कुरैशी को प्यारेपुर चौराहे से  रात में गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त मुस्तफा कुरैशी द्वारा बताया गया कि दस जून की रात्रि में अपने लड़के अरमान कुरैशी के साथ मिलकर पैसे व पत्नी पर कुदृष्टि रखने के विवाद को लेकर अपने बहनोई अब्दुल कलाम कुरैशी पुत्र स्व. मुहम्मद सईद कुरैशी निवासी मोहल्ला कसाब टोला कस्बा बहादुरगंज थाना कासिमाबाद जनपद गाजीपुर की गला दबाकर हत्या कर दिये तथा शव को घर के बगल में कोटिया के पास पेड़ पर रस्सी के सहारे लटका दिये थे।
     दोनों अभियुक्तों के विरुद्ध विधिक कारर्वाई करते हुए उनकाका चालान न्यायालय में पेश किया,जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।
      गिरफ्तारी करने वाली टीम में थानाध्यक्ष बहरियाबाद संजय कुमार,मुख्य आरक्षी राणा प्रताप यादव, आरक्षीगण जितेन्द्र कुमार, गुरु प्रसाद सिंह, निखिल कुमार मौर्या तथा महिला आरक्षी खुशबू पाठक थाना बहरियाबाद गाजीपुर शामिल रहे।


Hits: 84

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: