रहस्य ! हत्या या आत्महत्या ? कैसे गयी पुलिसकर्मी की जान

गाजीपुर। जिले के खानपुर थाना क्षेत्र के रामपुर गांव के जलनिगम पानी टंकी के समीप अलसुबह खेतों में घायलावस्था में पड़े युवक को देखकर उधर से गुजरते लोग सन्न रह गये। वहीं दो पिस्टल भी रही, जिसमें एक पिस्टल घायल के हाथ में तो दुसरी जमीन पर पड़ी थी। गोली घायल युवक के सिर में लगी थी। देखते ही देखते वहां लोगों की भीड़ लग गयी। उसकी पहचान क्षेत्र के बभनौली निवासी अजय यादव पुत्र रामप्रताप यादव के रुप में की गयी ।
लोगों ने इसकी सूचना तत्काल उसके परिजनों व पुलिस को दी। उसकी स्थिति देखकर परिवार में कोहराम मच गया।बताया गया कि घायल युवक वर्ष 2018 यूपी पुलिस में कान्स्टेबल पद पर भर्ती हुआ था। वर्तमान में उसकी तैनाती अमेठी जिले के गौरीगंज थाने में थी। वह छुट्टी लेकर अपनी चचेरी बहन की गोद भराई के अवसर पर घर आया था। कल ही गोदभराई का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ था।
परिजनों का कहना रहा कि वह सुबह उठकर खेतों की तरफ गया था। वह अपनी चार बहनों का इकलौता भाई था।घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों पिस्टल को अपने कब्जे में ले लिया और घायल को इलाज के लिए ले गयी। वाराणसी में इलाज के दौरान उसकी सांसे थम गयीं।
थानाध्यक्ष जितेंद सिंह ने बताया कि खानपुर थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में सिपाही को गोली लगी थी। वह सिपाही अमेठी के गौरीगंज थाने में तैनात था जो बहन की रिंग सेरेमनी में घर आया था। सिपाही के शव के बगल से पुलिस ने दो पिस्टल भी बरामद की है।
डीएसपी सैदपुर राजीव द्विवेदी ने बताया कि युवक के पास मिली दोनों पिस्टल की जांच की जा रही है। प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। फारेंसिक टीम ने फिंगर प्रिंट और अन्य जांच टीमों ने घटनास्थल पर जांच की है। अधिकारी साक्ष्यों के आधार पर जांच पड़ताल में जुटे हैं। सभी को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।मृतक का फाइल फोटो


Hits: 98

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: