संविधान दिवस पर ली गयी संविधान अनुरूप कार्य सम्पादन की शपथ

गाजीपुर। संविधान दिवस के अवसर पर रविवार को रायफल क्लब सभागार में अपर जिलाधिकारी अरूण कुमार सिंह की अध्यक्षता में संगोष्ठि सम्पन्न हुई। वहीं सभी लोगों को संविधान की उद्देशिका की शपथ दिलायी गयी।

         बताया गया कि संविधान को पूरा होने में 2 साल 11 माह और 18 दिन का समय लगा और यह 26 नवंबर 1949 में बनकर तैयार हुआ। हमारा यह संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ। भारत का संविधान विश्व में सबसे बड़ा संविधान माना जाता है। संगोष्ठि में संविधान में उल्लिखित मौलिक कर्त्तव्यों, महात्मा गांधी, डा0 भीमराव अम्बेडकर एवं सरदार बल्लभ भाई पटेल जी के विचारों से समस्त कर्मचारीगण को अवगत कराया गया व उनके आदर्शो को अपनाने के लिए प्रेरित किया गया। 

इसी क्रम में संविधान दिवस के अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी संत कुमार ने विकास भवन सभागार में उपस्थित समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों को राष्ट्र की एकता, अखंडता, संविधान का सम्मान एवं उसे अंगीकृत करने से संबंधित संविधान के प्रस्तावना की शपथ दिलाई । मुख्य विकास अधिकारी ने संविधान दिवस के अवसर पर उपस्थित समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों को बताया कि 26 नवंबर 1949 को संविधान समिति के द्वारा संविधान लिखकर पूर्ण करने पर देश की संविधान सभा द्वारा संविधान को विधिवत रूप से स्वीकार किया गया था, फलस्वरूप 26 नवम्बर को राष्ट्रीय संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है। राष्ट्रीय संविधान दिवस को राष्ट्रीय कानून दिवस के रूप में भी जाना जाता है। उन्होंने कहा कि हम सभी का कर्तव्य और जिम्मेदारी है कि संविधान के अनुसार ही निष्पक्षता, ईमानदारी से अपने पदीय दायित्व का निर्वहन करें और दूसरे लोगों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी सुरेश चंद्र केसरवानी, डीसी एनआरएलएम जीशान रिजवी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमित कुमार सिंह, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी प्रवीण कुमार मिश्र, अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारी आदि उपस्थित रहे।

Visits: 34

Leave a Reply