मेंहदीं का रंग उतरने से पहले ही विधवा हो गयी नेहा

गाज़ीपुर। आजमगढ़ जनपद के तरवां थाना क्षेत्र के नवापुरा भगीरथपुर निवासिनी नेहा के हाथ की मेहंदी का रंग फीका भी नहीं हुआ था कि अचानक उसके पति की मौत से उसके ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।

    उल्लेखनीय है कि नेहा की शादी गत 29 मई को सादात क्षेत्र के ग्राम मलौरा के नवापुरा राजभर बस्ती निवासी अमीन्द्र राजभर के पुत्र पवन राजभर (28वर्ष) के साथ हुई थी। घर में हंसी खुशी का माहौल था। इसी बीच पवन के बड़ी माता का निधन हो गया और उनकी तेरहवीं  दो दिन पहले ही बीती थी। टेंट का यह सामान दो दिन पूर्व उसकी बड़ी माता की तेरहवी कार्यक्रम में आया था, जिसे वह अपने दो साथियों आकाश राजभर और पीयूष राजभर के साथ पहुंचाने जा रहा था कि सादात थाना क्षेत्र के मलोरा सीतमपुर मार्ग पर रास्ते में सड़क किनारे लगे खम्भा और सड़क के गड्ढे को बचाने के चक्कर में ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पानी भरे गड्ढे में पलट गया। हादसे में ट्रैक्टर चला रहा पवन राजभर इंजन के नीचे दबकर बुरी तरह घायल हो गया। वहीं अन्य दोनों युवकों को भी चोट लगी। ग्रामीणों की मदद से सभी घायलों को मिर्जापुर पीएचसी पहुचाया, जहां  चिकित्सकों ने चालक को मृत घोषित कर दिया, जबकि घायल दो अन्य युवकों को प्राथमिकता उपचार के बाद घर भेंज दिया।

  .  हादसे में पवन की जान चले जाने से उसके घर में कोहराम मच गया। उसकी नवविवाहिता पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल रहा। बेचारी नेहा के हाथों पर लगी मेंहदीं का रंग भी नहीं उतरा था, कि काल के क्रूर चक्र ने उसे सुहागन से अभागन बना दिया।

Visits: 49

Leave a Reply