किशोरी से शादी का वादा और दुराचार मामले में दोषी को मिली दस वर्ष की जेल 

ग़ाज़ीपुर। किशोरी से शादी का वादा कर दुष्कर्म करने वाले अभियुक्त को दोषी ठहराते हुए न्यायालय ने उसे दस वर्ष के कारावास और 22 हजार रुपये के अर्थदंड से दण्डित किया है।

      विशेष न्यायाधीश पाक्सो प्रथम राकेश कुमार “सप्तम” की अदालत ने बुधवार को नाबालिक को भगा कर शादी और दुष्कर्म के मामले में आरोपी अभिषेक उर्फ बबलू नाई पुत्र श्याम बिहारी नाई निवासी कोतवालीपुर खालिसपुर थाना नोनहरा जनपद गाजीपुर को यह सजा सुनाई।

   बताते चलें कि नोनहरा थाना क्षेत्र के गांव के युवक ने ही एक 15वर्षिया किशोरी को बहला फुसला कर भगा ले गया था। नाबालिग के पिता द्वारा नोनहरा थाने में तहरीर के आधार पर दिसम्बर 2018 को मुकदमा दर्ज किया । मामले में पुलिस ने पीड़िता को बरामद कर न्यायालय में बयान दर्ज कराया। उसके आधार पर गिरफ्तार आरोपी के विरुद्ध न्यायालय में पाक्सो एक्ट व अन्य सम्बन्धित धाराओं में आरोप पत्र पेश किया। विचारण के दौरान इस मामले में अभियोजन की तरफ से विशेष लोक अभियोजक  प्रभुनारायण सिंह द्वारा आठ गवाहों की गवाही कराई गई। बुद्धवार को दोनो तरफ की बहस सुनने के बाद न्यायालय ने आरोपी को दोषी ठहराते हुए अभियुक्त को जेल की सजा और अर्थ दण्ड से दण्डित किया।

Views: 61

Leave a Reply