प्रमुख सचिव ने किया डायलेसिस यूनिट, ब्लड कम्पोमेन्ट एवं क्लीनिकल लैब का लोकार्पण

गाजीपुर। चिकित्सा शिक्षा विभाग उ.प्र. शासन के प्रमुख सचिव आलोक कुमार ने महर्षि विश्वामित्र स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय में दीप प्रज्जवलित कर रक्त पृथ्यकरण केन्द्र चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण का लोकार्पण किया। इसके उपरांत जिला चिकित्लय के 10 बेडेड आई.सी.यू. वार्ड, ब्लड कम्पोमेन्ट यूनिट एवं क्लीनिकल लैब एवं डायलिशिस प्लान्ट का लोकापर्ण किया।


शासन के निर्देशानुसार उन्होंने जनपद की हालात के बारे में जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये। उन्होने इमरजेन्सी, मेडिकल स्टोर एवं वहां पर उपस्थित मरीजों का हाल जाना तथा बताया कि मेडिकल लाइन के तीन कार्य होते है- टीचिग, रिसर्च एवं पेसेन्ट केयर। उन्होंने बताया कि चिकित्सा शिक्षा एवं शिक्षा सेवाओं में बेहतर सुधार हुए हैं। पी.जी. अभ्यार्थियों को कैसे लाये यह प्रयास किया जा रहा है जिससे कि चिकित्सा शिक्षा में सुधार होने में सहायता मिल सके। डी.एन.बी की सीट लेने का प्रसास हो रहा है। उन्होंने नर्सिग कालेज एवं पैरामेडिकल ट्रेनिंग सेन्टर के निर्माण हेतु क्या व्यवस्था हो सकती है, उसके लिए स्थलीय निरीक्षण किया। प्रमुख सचिव ने अपने सम्बोधन में उपस्थित सभी को धन्यवाद दिया।उन्होंने डाक्टरों एवं चिकित्सकों को निर्देश दिये कि मरीजों के साथ अच्छे से बात करें ताकि किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो। उन्होंने इस वर्ष दाखिल प्रथम बैच के एम.बी.बी.एस छात्रो को बधाई भी दी। इसके साथ ही उन्होंने महिला चिकित्सालय का स्थलीय निरीक्षण और अफीम फैक्ट्री का अवलोकन किया।

Hits: 75

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: