घटना के तीन दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली,नहीं लगा हमलावरों का सुराग

गाजीपुर। हमलावरों की मार से मरणासन्न अवस्था में इलाज हेतु वाराणसी ट्रामा सेंटर में भर्ती गोविंद ने आज सुबह दम तोड़ दिया। अचेतन की अवस्था के चलते वह कुछ बता नहीं सका।
      उल्लेखनीय हैं कि हंसराजपुर बाजार के निकटवर्ती गांव बभनौली में राम गोविंद गुप्ता 30 वर्ष पुत्र स्वर्गीय दया शाह को सोमवार की रात में अज्ञात हमलावरों ने मार पीट कर, जख्मी अवस्था में गांव के बाहर पुराने ईंट भट्ठे के समीप गड्ढे में फेंक दिया था। सुबह वह मरणासन अवस्था में मिला।  घटना की सूचना पर हंसराजपुर पुलिस चौकी की पुलिस मौके पर पहुंची और उसे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय पहुंचाया। गंभीर हालत देखते हुए उसे वाराणसी ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सा के दौरान आज उसकी मौत हो गयी। पोस्टमार्टम के बाद संध्या तक उसका शव परिवार को मिलने की उम्मीद है।
      बताया गया कि गोविंद गुप्ता दिहाड़ी मजदूर  और शराब का आदी था। उसने सोमवार को ही अपनी जमीन हंसराजपुर बाजार निवासी एक व्यक्ति को साढ़े तीन लाख रुपये में बेची थी जिसके एवज में उसे एक लाख रुपए नगद और ढाई लाख रुपए का चेक प्राप्त हुआ था।
    जनचर्चा है कि जमीन की रजिस्ट्री के बाद वह शाम को अपने दोस्तों संग खाने पीने चला गया। उसके बाद कब क्या हुआ किसी को पता नहीं है। 
     घटना को लेकर मृतक की पत्नी सरोज गुप्ता ने छह नामजद व तीन अज्ञात लोगों के विरुद्ध शादियाबाद थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।
पुलिस घटना की तहकीकात में लगी है परन्तु अभी तक किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है।    घटना को लेकर बाजारवासियों में तीव्र रोष व्याप्त है। बाजारवासियों ने पुलिस अधीक्षक का ध्यान आकृष्ट कराते हुए घटना का पर्दाफाश करते हुए
दोषियों के विरुद्ध कारर्वाई की मांग की है।


Hits: 206

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: