चुनावी रंजिश में हुई थी वृद्ध राजाराम निषाद की हत्या

गाजीपुर। खानपुर थाना क्षेत्र के पटना गोपालपुर गांव में बाइस मई की रात खेत पर सो रहे बुजुर्ग राजाराम निषाद की हत्या का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
    इसकी विस्तृत जानकारी पुलिस अधीक्षक डा.ओम प्रकाश सिंह ने आज अपने कार्यालय में पत्रकार वार्ता में दी। हत्यारोपियों को मीडिया के समक्ष पेश करते हुए बताया गया कि यह हत्या चुनावी रंजिश का परिणाम रही।
      उल्लेखनीय है कि गत बाइस मई की रात
थाना क्षेत्र के पटना गोपालपुर गांव में बाइस मई की रात बुजुर्ग राजाराम निषाद की हत्या उस समय कर दी गयी जब वह खेत पर सो रहे थे।
        हत्या की जानकारी पर थानाध्यक्ष
खानपुर घटनास्थल पर पहुँचे और घटना की सूचना उच्चाधिकारियों को दी। पुलिस अधीक्षक ने वहां पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया और मृतक के परिजनों से वार्ता की। उन्होंने घटना के शीघ्र अनावरण हेतु मातहदों को निर्देशित किया।
     परिजनों से प्राप्त तहरीर के आधार पर थाना खानपुर पर मुकदमा संख्या- 98/2021, धारा-302,394 भादवि पंजीकृत कर विवेचना आरम्भ की गयी। अपर पुलिस अधीक्षक नगर के पर्यवेक्षण तथा क्षेत्राधिकारी सैदपुर के नेतृत्व में सुरागरसी, पतारसी के आधार पर खानपुर पुलिस टीम ने चार अभियुक्तों को तेतारपुर तिराहे से उस समय धर दबोचा जब वे कहीं भागने की फिराक में थे।
   गिरफ्तार अभियुक्तों में राजू यादव उर्फ रूद्र पुत्र रामाश्रय यादव, निवासी ग्राम पटना, थाना खानपुर, गाजीपुर तथा नीरज यादव पुत्र प्रकाश यादव,आशीष यादव पुत्र हेमराज यादव और रामदेव यादव पुत्र रविन्द्र नाथ, निवासीगण ग्राम भुजाड़ी, थाना खानपुर, गाजीपुर रहे।
    पूछताछ के दौरान अभियुक्त राजू यादव ने बताया कि हमारे पिता रामाश्रय यादव इस वर्ष ग्राम प्रधानी का चुनाव लड़े थे, जिसमें मृतक ने अपना व अपनी बिरादरी का वोट दिलाने के लिए हमारे पिताजी से 20,000 रू0 लिया था लेकिन चुनाव के दिन पलटते हुए वोट किसी और को दिलवा दिया, जिससे मेरे पिता जी चुनाव हार गये। उसके बाद से मैं मृतक राजाराम निषाद से रंजिश रखने लगा तथा उनको सबक सिखाने की ठान ली। गत बाइस मई को मैं अपने रिश्तेदार व साथियों के साथ मिलकर ग्राम पटना पहुंचकर राजाराम निषाद के खेत पर गड़े हुए बांस के टुकड़ों को उखाड़कर व चाकू से सोये हुए राजाराम पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मृत्यु हो गयी।  पुलिस ने उसकी निशानदेही पर दो बाँस का टुकड़ा व एक देशी चाकू भी बरामद कर लिया।
     हत्यारों को गिरफ्तार कर, अतिशीघ्र हत्या का खुलासा करने वाली पुलिस टीम में थानाध्यक्ष खानपुर जितेन्द्र बहादुर सिंह, उपनिरीक्षक प्रमोद कुमार सिंह, सुनील कुमार शुक्ला, नजिमुद्दीन अंसारी,मुख्य आरक्षी राणा प्रताप सिंह, आरक्षी आकाश, राजकुमार, महिला आरक्षी दीपिका तिवारी तथा चालक रविशंकर चौधरी शामिल रहे।
    हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए हत्यारों को गिरफ्तार करने में सफल रही पुलिस टीम के उत्साह वर्धन हेतु पुलिस अधीक्षक ने ₹10000 के पुरस्कार से पुरस्कृत किया है।


Hits: 63

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: