प्रेरणादायी हैं स्वामी विवेकानंद के आदर्श – डॉ. रत्नाकर

गाजीपुर। श्रीबालकृष्ण यति कन्या पीजी कालेज हथियाराम में स्वामी विवेकानंद के जयंती सप्ताह समारोह के तहत आयोजित कार्यक्रम में छात्राओं ने स्वामीजी के आदर्श एवं पदचिन्हों पर चलकर राष्ट्र निर्माण में भागीदारी निभाने का वचन दिया।
कालेज में राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय विशेष शिविर की अध्यक्षता कर रहे प्राचार्य डा. रत्नाकर त्रिपाठी ने कहा कि स्वामी जी का जन्मदिन राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाए जाने का प्रमु्ख कारण उनका दर्शन, सिद्धांत, अलौकिक विचार और उनके आदर्श हैं, जिनका उन्होंने स्वयं पालन किया। इसके साथ ही उन्होंने देश के साथ-साथ अन्य देशों में भी स्थापित किया। कहा कि युग पुरुष स्वामी जी के व्यक्तित्व की व्याख्या शब्दों में करना संभव नहीं है।उनके विचार और आदर्श युवाओं में नई शक्ति और ऊर्जा का संचार करते हैं। प्रवक्ता डा. अमिता दूबे ने कहा कि समाज में अपनी अलग पहचान बनाने के लिए एक अलग लक्ष्य लेकर आगे बढ़ें, तो समाज के प्रति सार्थकता निश्चित रूप से सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद के मूल मंत्र उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हो जाय, को आत्मसात करें।
इसी क्रम में छात्राओं ने पोस्टर प्रतियोगिता में पोस्टर निर्मित किया तो वहीं भाषण प्रतियोगिता में भी प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता में संजना यादव ने प्रथम, संध्या यादव और ज्योति सिंह ने द्वितीय तथा प्रतीक्षा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस मौके पर प्रवक्ता डा. अमिता दूबे, आरती सिंह, रिंकू सिंह, वीणा मिश्रा, सुनीता मौर्य, चंद्रशेखर सिंह समेत छात्रा सुधा सिंह, ज्योति, अनिता, नेहा गुप्ता, प्रगति यादव, संध्या, शिखा सिंह, आरती आदि उपस्थित रहीं।


Hits: 15

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: