बुद्ध और गांधी ने विश्व को दिया अहिंसा का अनुपम उपहार 

गाज़ीपुर। राष्ट्र पिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री की जयन्ती जनपद में मनायी गयी। इस अवसर पर स्वामी सहजानन्द पीजी कालेज, गाजीपुर में गांधी और अहिंसा विषयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

       संगोष्ठी को संबोधित करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. डॉ. वी के राय ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा के 2007 में पारित प्रस्ताव के अनुरूप पूरी दुनिया में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म दिवस 2 अक्टूबर को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है। महात्मा गांधी ने स्वाधीनता आंदोलन के दौरान सत्य और अहिंसा के जिस अभिनव हथियार का प्रायोगिक धरातल पर सत्यापन किया वह विश्व की समकालीन सामाजिक-राजनैतिक संस्कृति को अनमोल देन है। उन्होंने कहा कि बुद्ध और गांधी के देश ने विश्व को अहिंसा का अनुपम उपहार दिया।

       समाज शास्त्र विषय के अध्यक्ष प्रो. अवधेश नारायण राय ने कहा कि महात्मा गांधी और लालबहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर हमें व्यक्तिगत तथा सार्वजनिक जीवन मे सरलता-सादगी, सुचिता, स्वच्छता, कर्तव्यनिष्ठा तथा प्राणिनाम आर्तनाशनम- जैसे सूत्रों को आत्मसात करना होगा। यही इन महापुरुषों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

         संगोष्ठी से पूर्व महाविद्यालय के शिक्षकों-कर्मचारियों तथा छात्रों ने परिसर स्थित स्वामी सहजानन्द सरस्वती के मंदिर में सफाई कार्य किया तथा गांधी जी, लालबहादुर शास्त्री व स्वामी सहजानंद के चित्र व प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा पुष्प अर्पित किया।

इस अवसर पर प्रो. अजय राय, रामधारी राम, संने सिंह, राकेश पांडेय, सुरेश प्रजापति, राजेश गुप्ता, संजय कुमार, अजय सिंह, डॉ. प्रमोद श्रीवास्तव, अवधेश पांडेय, डॉ. वी के ओझा, प्रवीण राय, शशांक राय, सुरेंद्र प्रसाद, सतेंद्र बहादुर राय, शरद राय, बांके राम, संतोष राम, मनोज राम, महेंद्र राम आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन राजनीति शास्त्र विभाग के अध्यक्ष डॉ. कृष्णा नन्द चतुर्वेदी ने किया।

Views: 49

Leave a Reply