फर्जी अंकपत्र के आधार पर नौकरी करने वाली अध्यापिका गिरफ्तार

गाजीपुर। फर्जी अंकपत्र प्रस्तुत कर प्रबन्धक के सहयोग से सहायक अध्यापिका का पद प्राप्त कर वेतन प्राप्त करने वाली अभियुक्ता निकहत परवीन को संयुक्त पुलिस टीम ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। इस कार्रवाई में प्रभारी निरीक्षक कासिमाबाद, महिला थाने की थानाध्यक्ष तथा थाना बिरनो की संयुक्त पुलिस टीम शामिल रहीं।

       अभियुक्ता निकहत परवीन (पूर्व चेयरमैन नगर पालिका बहादुरगंज) पत्नी रियाज अहमद अंसारी निवासी मोहल्ला दक्खिन टोला बहादुरगंज कस्बा थाना कासिमाबाद जनपद गाजीपुर को पर आरोप था कि उसके द्वारा इण्टरमीडिएट वर्ष 2005 का कूटरचित दस्तावेज प्रस्तुत कर तत्कालीन प्रबन्धक के सहयोग से सहायक अध्यापक (तहतानिया) का पद प्राप्त किया गया था। इस पर अभियुक्ता (पूर्व चेयरमैन नगर पालिका बहादुरगंज) तथा तत्कालीन प्रबन्धक एवं चयन समति के सदस्यों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत करते हुए जालसाज अभियुक्ता को गिरफ्तार किया गया तथा अन्य अभियुक्तों के विरुद्ध विधिक कार्यवाही जारी है।               

         पुलिस सूत्रों से बताया गया कि अभियुक्ता निकहत परवीन द्वारा इण्टरमीडिएट सन् 2005 का अंक पत्र उपलब्ध कराया गया था। उसके द्वारा वर्ष 2005 में पूर्णांक 500 में 260 अंक प्राप्त किया गया जिसका प्रतिशत 52 था जो कि न्यून्तम शैक्षिक योग्यता 55 प्रतिशत से कम है, जबकि अभियुक्ता द्वारा जो अंकपत्र संलग्न किया गया था उसमें पूर्णांक 500 में से प्राप्तांक 278 दिखाया गया जिसका प्रतिशत 55.6 % था। तत्कालीन प्रबन्धक द्वारा अंक पत्र का सत्यापन किये बिना पत्रावली से सम्बन्धित प्रपत्रों को प्रमाणित करते हुए उच्चाधिकारी गण को प्रेषित कर दिया गया था। इस प्रकार निकहत परवीन द्वारा इण्टरमीडिएट वर्ष 2005 का कूटरचित दस्तावेज प्रस्तुत कर तत्काली प्रबन्धक के सहयोग से सहायक अध्यापक (तहतानिया) का पद प्राप्त किया गया तथा पद के सापेक्ष वेतन भी प्राप्त किया गया। अभियुक्ता निकहत परवीन व तत्कालीन प्रबन्धक नजीर अहमद तथा चयन समिति के सदस्यों का उक्त कृत्य अपराधिक श्रेणी में आता है, जिसके विरुद्ध नियमानुसार अभियोग पंजीकृत करके नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।

Views: 300

Leave a Reply