आर एस एस प्रमुख को उनके आविर्भाव दिवस पर दी शुभकामनाएं

गाजीपुर। जूना अखाड़ा के वरिष्ठ महामंडलेश्वर एवम् सिद्धपीठ हथियाराम के पीठाधीश्वर स्वामी भवानीनन्दन यति जी महाराज ने संघ प्रमुख डा. मोहन भागवत को आविर्भाव दिवस के अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए उनके मंगलमय जीवन के लिए मां बुढ़िया माई से आशीर्वाद मांगा। उन्होंने कहा कि मां भारती के लिए समर्पित उनका जीवन राष्ट्र के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।


उल्लेखनीय है कि दुनिया के सबसे विशाल सांस्कृतिक संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखिया डा.मोहन मधुकर भागवत का 11सितंबर को आविर्भाव दिवस (जन्मदिवस) है। भगवान सिद्धेश्वर एवम् मां सिद्धिदात्री का आशीर्वाद तथा कृपा उनके ऊपर अहर्निश बनी रहे। वे स्वस्थ और दीर्घायु हों। ऋषिप्रवर भागवत जी का विशाल व्यक्तित्व एवम् उनके सद्प्रयास के कारण ही राष्ट्र भारत हीनता के भाव को मिटाकर स्व के बोध से परम वैभव सम्पन्न राष्ट्र की संकल्पना को साकार करने की दिशा में प्रयत्नशील है। आपके द्वारा भारतीय जीवन मूल्यों को बनाए रखने तथा राष्ट्रीय चरित्र को गढ़ने में किए गए योगदान के लिए सनातन हिन्दू समाज ऋणी है। राष्ट्र भारत आज अपनी सांस्कृतिक पहचान के साथ दुनियां के समक्ष मस्तक ऊंचा करके खड़ा है। निःसंदेह यह प्रत्येक भारतीय के पुरुषार्थ से संभव हुआ लेकिन इस पुरुषार्थ को जगाने तथा हिन्दू समाज के अंदर आत्मविश्वास पैदा करने में युगपुरुष मोहन मधुकर भागवत ने महती भूमिका का निर्वहन किया है।
महाराज श्री ने, मां भारती के अनन्य उपासक डा.मोहन भागवत को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामना व्यक्त करते हुए कहा कि खण्डित भारत को पुनः अखण्ड भारत बनाने के लक्ष्य संधान में मां वृद्धांबिका उनकी सहायक हों।

Hits: 36

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: