गौ आश्रय स्थल पर बायोगैस प्लान्ट का हुआ  शिलान्यास

गाजीपुर। मुहम्मदाबाद तहसील के करीमुद्दीनपुर ग्राम मेें बनाये गये स्थायी वृहद गौ-आश्रय स्थल पर बायोगैस प्लान्ट का शिलान्यास मंगलवार को बलिया सांसद विरेन्द्र सिंह ‘मस्त‘ ने पूरे विधि विधान से पूजा अर्चन कर किया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी एमपी सिंह ने कहा कि उ0प्र0 सरकार की गोबर्धन योजना के अन्तर्गत स्थापित किये जा रहे वायोगैस प्लान्ट के संचालन हेतु उपयोग होने वाले गोबर/अपशिष्ट को आटोमिक्चर से केवल एक आपरेटर द्वारा आटोमैटिक बायोगैस प्लान्ट में भेजा जायेगा, जिससे दैनिक व्यय न्यूतम आयेगा। बायोगैस प्लान्ट से उत्पन्न होने वाली गैस को बिजली में परिवर्तित कर लाइट, पंखा, सबमर्सिबल पम्प के संचालन एवं खाना पकाने में गैस चुल्हा जलाने हेतु उपयोग में लाया जायेगा। बायोगैस से निकलने वाली स्लरी सुखाकर खाद के रूप में कृषि कार्य हेतु उपयोग किया जायेगा। बायोगैस प्लान्ट से निकलने वाले खाद् को ग्रामीणो को ब्रिक्री से प्राप्त धनराशि का उपयोग आवश्यकतानुसार बायोगैस प्लान्ट का अनुरक्षण एवं गौ-आश्रय स्थल का संचालन प्रभावी रूप से किया जायेगा। खाद से ग्रामीणों को आर्गेनिक खेती हेतु जन-जागरूकता के माध्यम से बढ़ावा दिया जा सकता है। इससे ग्रामीणों के आय में वृद्धि होगी तथा आमजनमानस के स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होगा। उन्होने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण फेज-2 के गोर्वधन योजना के अन्तर्गत बायोगैस प्लान्ट का निर्माण के प्राक्कलन की धनराशि 34.52 लाख है तथा इसकी क्षमता 60 घन मीटर तथा कार्यदायी संस्था अधि.अभि. खण्ड कार्यालय उ0प्र0 जल निगम ग्रामीण गाजीपुर है।
मुख्य अतिथि सांसद विरेन्द्र सिंह ‘मस्त‘ ने अपने सम्बोधन में कहा कि हजारों एकड़ में फैली करईल का इलाका दुनिया की सबसे उपजाऊ जमीन में से एक है। मंगई नदी में बाढ़ के दौरान जल जमाव के कारण किसानो की समय से खेती नही हो पाती है जिससे उनकी आय मे बढो़त्तरी नहीं हो पाती। किसानो की आमदनी एंव गांव के लोगो की आय बढा़ने हेतु कम लागत पर अधिक खेती कर उत्पादन किया जा सकता है। कम लागत से अधिक उत्पादन हो तो किसानों की आय स्वाभाविक रूप से बढे़गी। उन्होेने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि मंगई नदी के रास्ते यदि किसी प्रकार का अवरोध है तो उसे तुरन्त तुड़वाकर नदी के बहाव का रास्ता सही किया जाये। इससे बाढ़ के दौरान इन इलाकों में कम जल जमाव हो सके तथा किसानों को अपने भूमि पर अधिक से अधिक सिचाई, बुवाई का अवसर प्राप्त हो सके।
इसके उपरांत सांसद ने विकास खण्ड मुहम्मदाबाद अन्तर्गत ग्राम पंचायत रघुबरगंज से हाटा होते हुए खेमपुर तक मंगई नदी के बाहरी सेक्सन सुधार व ड्रेसिंग कार्य का शिलान्यास एंव निरीक्षण किया तथा इस कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण करने का निर्देश दिया।
इसके साथ ही साथ सांसद, जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी ने मंगई नदी तट पर वृक्षारोपण कर उपस्थित लोगों को अधिक से अधिक पौधरोपण की अपील की।
इस अवसर पर जिलाधिकारी एम पी सिंह, मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता, उपजिलाधिकारी मुहम्मदाबाद हर्सिता तिवारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, डी सी मनरेगा, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, पूर्व विधायक कालीचरण राजभर, ब्लाक प्रमुख भांवरकोल, बाराचवर, एंव अन्य जनपदस्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।


Hits: 84

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: