दहेज हत्या के आरोपी पति और ससुर पहुंचे सलाखों के पीछे

गाजीपुर। दहेज हत्या के नामजद दो आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार की रात धर दबोचा। घटना सादात नगर पंचायत की है। पुलिस तीसरे फरार नामजद आरोपी की सुरागरसी में लगी हुई है।
बताते चलें कि नगर पंचायत सादात के वार्ड एक दलित बस्ती निवासी सेवानिवृत्त उपनिरीक्षक मुन्ना राम ने अपने पुत्र गौतम राम का विवाह धुवार्जुन निवासी राजेश राम की पुत्री प्रिया के साथ किया था। बुधवार को प्रिया ने संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। परिजनों ने बताया कि विवाहिता प्रिया ने कमरा बन्द कर स्वयं फांसी लगा ली थी। काफी समय तक जब वह कहीं नहीं दिखाई दी तो परिजन कमरा खोलने के लिए आवाज लगाये, कोई उत्तर न मिलने पर कमरे का दरवाजा तोड़ भीतर घुसे तो पंखा से लटकता उसका शव देकर सन्न रह गये। घटना की जानकारी होते ही वहां लोगों की भीड़ लग गयी।
जानकारी पर मृतका की मां शशिकला और अन्य लोगों के साथ वहां पहुंची और उसने ससुराल पक्ष पर दहेज हत्या का आरोप लगाया तो मृतका के चाचा मुकेश कुमार ने ससुर मुन्ना राम, पति गौतम राम और ज्येष्ठ रतन राम के खिलाफ दहेज हत्या का अभियोग पंजीकृत कराया।
अभियोग पंजीकृत के बाद पुलिस आरोपियों की तलाश में जूट गयी और गुरुवार की रात गश्त के दौरान उपनिरीक्षक महेन्द्र यादव ने कांस्टेबल आयुष कुमार और शिवम के साथ आरोपियों के घर पर दबिश देकर पति गौतम और ससुर मुन्ना राम को गिरफ्तार कर लिया।
थानाध्यक्ष प्रवीण यादव ने बताया कि दोनों आरोपियों के विरुद्ध विधिक कारर्वाई करते हुए शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।


Hits: 117

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: