समिति ने किया राजकीय सम्प्रेक्षण गृह व राजकीय प्लेस ऑफ सेफ्टी का निरीक्षण

गाजीपुर। आश्रय गृहों के निरीक्षण हेतु गठित समिति
द्वारा राजकीय प्लेस ऑफ सेफ्टी गाजीपुर एवं राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) गाजीपुर का निरीक्षण किया गया।
     राजकीय प्लेस ऑफ सेफ्टी में अधिकारी/कर्मचारीगण तथा आवासित किशोरों उपस्थिति पंजिका के अनुसार उपस्थित पाये गये। राजकीय प्लेस ऑफ सेफ्टी गाजीपुर के मीनू के अनुसार सुबह के नाश्ता में पूड़ी, आचार, चाय दोपहर के भोजन में भिंडी की सब्जी, मसूर की दाल, रोटी, चावल, सलाद तथा शाम के नाश्ता में पोहा, चाय रात्रि के भोजन में रस्सेदार सब्जी, (आलू,मटर,टमाटर) रोटी, चावल एवं सलाद तथा भण्डारण कक्ष में भण्डारण उपलब्ध पाया गया। राजकीय प्लेस ऑफ सेफ्टी एवं राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) के सारिका सिंह, सहायक अध्यापिका, सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक उपस्थित रहीं।
   बताया गया कि चिकित्सक के रूप में इंदूमती देवी नर्स रूप में 4 घण्टे सुबह व 4 घण्टे शाम को आती है तथा आवश्यकता पड़ने पर किसी भी समय आ जाती है। राजकीय प्लेस ऑफ सेफ्टी एवं राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) को निर्देशित किया गया कि विचाराधीन एवं दोषसिद्ध बंदियों के लिए अलग-अलग बैरक की व्यवस्था सुनिश्चित करें तथा शौचालय में साफ-सफाई एवं हार्पिक, साबुन, हैण्डवाश, मच्छरों के लिए छिड़काव आदि की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें। किसी भी बालक द्वारा किसी उत्पीड़न अथवा परेशानी का कोई उल्लेख नहीं किया गया।
   वन स्टाप सेंटर, सरकारी हास्पिटल, गोराबाजार के निरीक्षण के दौरान उपस्थिति पंजिका के अनुसार छह संविदा कर्मियों को कार्यरत होना पाया गया तथा वन स्टाप सेंटर, सरकारी हास्पिटल, गोराबाजार में सुरक्षा व्यवस्था के लिए कोई सुरक्षकर्मी/होमगार्ड उपस्थित नहीं थे, तो वहीं मुख्य द्वार, परामर्श कक्ष, हाल, बाथरूम एवं शौचालय में साफ-सफाई भी उचित नही पायी गयी। वन स्टाप सेंटर, सरकारी हास्पिटल, गोराबाजार में रिर्पोटिंग चौकी, महिला थाना द्वारा 8 महिला पुलिस कांस्टेबल की पोस्टिंग हैं जिनका एक पाली में 3 से 4 महिला कांस्टेबल का सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक ड्यूटी लगाई जाती है। पं0 भोलानाथ मिश्र, बालगृह (बालक) बड़गांव, मखदूपुर, सैदपुर, गाजीपुर के अधीक्षक रामप्रवेश मिश्र उपस्थित थे एवं कुल 11 कर्मचारी कार्यरत है। संस्था में आवासित बालकों की संख्या उपस्थिति पंजिका के अनुसार सही पायी गयी। समिति द्वारा सम्बंधित बालगृह(बालक) अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि वे बच्चों को मास्क पहनना सिखायेें व उनके साइज के मास्क उपलब्ध करायें।     समिति द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि साफ-सफाई, मच्छरों के लिए छिड़काव करना सुनिश्चित करें। किसी भी बालक द्वारा किसी उत्पीड़न अथवा परेशानी का कोई उल्लेख नहीं किया गया है।
समिति के अध्यक्ष विष्णु चन्द्र वैश्य, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश/विशेष न्यायाधीश, पॉक्सो न्यायालय,  सदस्या सुश्री कामायनी दूबे, सचिव, (पूर्णकालिक) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, गाजीपुर एवं सदस्य विनायक सोमवंशी, नवसृजित न्यायालय अपर सिविल जज (जू0डि0) चतुर्थ मौजूद रहे।


Hits: 84

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: