नहीं रहे साहित्यकार श्रीनाथ द्विवेदी

गाजीपुर| मुहम्मदाबाद तहसील क्षेत्र के सुल्तानपुर के निवासी साहित्यकार श्रीनाथ द्विवेदी का 78 वर्ष की उम्र में निधन का समाचार मिलते ही साहित्यिक जगत व क्षेत्र में शोक की लहर छा गयी। शुक्रवार को मुम्बई में उनका निधन हुआ था। स्व. द्विवेदी भारतीय रिजर्व बैंक से वरिष्ठ शाखा प्रबंधक के पद से सेवानिवृत्त होने के उपरांत साहित्य साधना में लगे थे। उन्होंने फादर कामिल बुल्के के अंग्रेजी हिन्दी शब्दकोष को वर्षो मेहनत कर संपादित किया और हजारों नये शब्द उसमें शामिल कर उसे समृद्धि प्रदान की। उन्होंने बैकिंग के कार्य से जुड़े लोगों की सुविधा व जानकारी के लिए बैकिंग शब्दावली का शब्दकोष तैयार किया।     अपनी आत्मकथा को अंतिम रूप देने में जुटे थे तभी बीच में ही उनका निधन हो गया। उनके निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा रहा। शोक व्यक्त करने वालो में डा. अविनाश प्रधान, प्रो. अवधेश प्रधान, प्रो. आनंद प्रधान, सोनभद्र के पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष रूद्रदेव दूबे, चंद्रशेखर दूबे, धनंजय राय, सुभाष गुप्ता, धनंजय प्रधान बबुआ, राधेश्याम दूबे आदि प्रमुख रहे।


Hits: 38

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: