मृत बाघिन की हर स्तर से होगी जांच

टाइगर रिजर्व में एक बार फिर बाघिन का शव मिलने से वन्य अधिकारियों सहित वन कर्मचारियों में खलबली मची है।
    घटना पीलीभीत टाइगर रिजर्व के बीच से गुजरने वाले पीलीभीत माधोटांडा मार्ग स्थित माला कंपार्टमेंट की है जहां रेंज़ कार्यालय से लगभग 6 किलोमीटर दूरी पर एक बाघिन का शव गत मंगलवार देर शाम को मिला था।
    सूचना के बाद बुधवार सुबह जिला एवं मंडल के वन्य अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर मौका मुआयना किया। मौके पर पीलीभीत टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर जावेद अख्तर, डिप्टी डायरेक्टर नवीन खंडेलवाल के साथ ही पीलीभीत टाइगर रिजर्व के पशु चिकित्सक दक्ष गंगवार भी पहुंचे। मौका मुआयना में सड़क किनारे मृत पड़ी बाघिन के सिर और नाक में गहरे चोटों के निशान पाये गये। उम्मीद जताई गयी कि इस बाघिन की मौत किसी अज्ञात बड़े वाहन की टक्कर  के कारण हुई होगी।
    बताते चलें कि टाइगर रिजर्व के बीच से गुजरने वाले माधोटांडा व खटीमा मार्ग पर एक बाघिन के साथ दो शावक के फोटो वायरल हुए थे। कैमरे में कैद दो फोटो दुनिया भर में काफी चर्चा में रहे। स्थानीय वन प्रेमियों में वन्य जीव की सुरक्षा को लेकर पीटीआर के डिप्टी डायरेक्टर से अपील की थी कि जंगल के बीच से गुजरने वाले मार्गों पर स्पीड ब्रेकर या बड़े वाहनों की गति रोकने के लिए कोई ठोस कदम उठाया जाये। इस मुद्दे को वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर बिलाल मियां ने भी काफी दिनों उठाएं, लेकिन अधिकारी पत्राचार ही करते रह गए और मंगलवार देर शाम सड़क दुर्घटना में आखिरकार एक बाघिन की मौत हो गई।
       पीलीभीत टाइगर रिजर्व के डिप्टी डायरेक्टर नवीन खंडेलवाल ने बताया कि जंगल के बीच से गुजरने वाले मार्गों पर स्पीड ब्रेकर के लिए शासन एवं जिला प्रशासन से पत्राचार काफी लंबे समय से चल रहा है। जब से जंगल के बीच से गुजरने वाले मुख्य मार्गों पर वन जीव देखे जाने की सूचना प्राप्त हुई तब से मुख्य मार्गों पर भी गश्त बढ़ा दी गई है। बाघिन की मौत पीटीआर के लिए काफी दुखद है इसकी हर पहलू पर जांच की जायेगी।


रिपोर्ट – श्रवण यादव

Hits: 30

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: