कोविड-19 * बचाव के लिए 15 वचनों का करें पालन

जागरूक और सतर्कता ही है कोरोना से बचाव


गाजीपुर। वैश्विक महामारी कोविड-19 की दूसरी लहर से बचने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने जनसमुदाय से 15 वचनों का पालन करने को कहा है। कहा गया है कि कोविड -19 किसी व्यक्ति को भी हो सकता है । इस दौरान बच्चों व बुजुर्गों की विशेष देखभाल करने की जरूरत है, क्योंकि उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने से कोरोना ज्यादा घातक हो सकता है। इससे बचाव हेतु स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने सभी लोगों से 15 वचनों का पालन करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि यदि सभी इनका पालन करेंगे तो वह कोविड-19 के संक्रमण से पूरी तरह सुरक्षित रहेंगे । जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन वचनों का पालन करने के लिए सभी दिशा-निर्देश दिये गए हैं।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) डॉ उमेश कुमार ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिये हर किसी को बचाव करना जरूरी है । इसके लिए 15 वचनों का पालन करना अनिवार्य है। जनपद में कोरोना पॉज़िटिव की संख्या बढ़ना चिंता का विषय बन चुका है। इसके मद्देनजर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के दिशा-निर्देशों का पालन करने को कहा है जिससे जिले में संक्रमण बढ़ने का खतरा रोका जा सकता है।
एसीएमओ डॉ के के वर्मा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग कोरोना लक्षण युक्त व लक्षण विहीन लोगों को क्वॉरंटीन करने व होम आइसोलेशन में भेजने की व्यवस्था कोरोना प्रोटोकॉल के अनुसार पूर्ण की जा रही है। समाचार-पत्रों व इलेक्ट्रोनिक मीडिया के जरिये लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि वह कोरोना से बचने के लिए 15 तरह के उपायों का पालन करें। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव को इन वचनों पर रहें अडिग –
1- एक दूसरे से गले मिल कर अभिवादन न करें।
2- कम से कम दो गज की शारीरिक दूरी बनायें ।
3- मास्क जरूर लगायें, दस्ताने पहने घर से बाहर न निकलें।
4- नाक व मुँह को गंदे हाथों से न छुएं।
5- साफ – सफाई का विशेष ध्यान रखें।
6- नियमित हाथ धोने के लिए साबुन पानी और सेनेटाइज़र का इस्तेमाल करें।
7- प्रतिदिन उपयोग मे आने वाली वस्तुओं की नियमित सफाई करें, जैसे दरवाज़े का हैंडल, कुर्सी, मेज, लाइट बटन, टॉयलेट, बाथरूम आदि सेनेटाइज करते रहें।
8- तम्बाकू का इस्तेमाल न करें ।
9- अनावश्यक यात्रा से बचें, ज़रूरी काम से ही घर से बाहर निकलें।
10- कोरोना मरीज संग भेदभाव न करें, मरीज को जाति व धर्म से न जोड़ें । वह सहानुभूति करुणा व समर्थन के पात्र हैं।
11- ज़्यादा भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें।
12- खुले में या सार्वजनिक जगह पर न थूकें।
13- खुद के लिए आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करें।
14- सोशल मीडिया पर गलत पोस्ट न डालें।
15- स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी समस्या की जानकारी के लिए कण्ट्रोल रूम मे कॉल करें।

Hits: 92

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: