दोहरा हत्याकांड ! हिस्से का पैसा न देने पर हत्यारे ने की थी दादा – चाचा की हत्या

गाजीपुर(उत्तर प्रदेश),18 फरवरी 2018।सदर कोतवाली थाना क्षेत्र के मंगल मड़ई गांव में गत 15/16 फरवरी की रात हुए दोहरे हत्याकांड के रहस्य से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है।सदर कोतवाली तथा करंडा थाना पुलिस की संयुक्त टीम ने हत्यारे देवचंद सिंह कुशवाहा पुत्र परशुराम सिंह कुशवाहा निवासी मंगल मड़ई को रेलवे स्टेशन गोलंबर से आज रात लगभग 3:30 बजे गिरफ्तार कर लिया।मृतक हत्यारे के दादा व चाचा थे।पुलिसअधीक्षक कार्यालय में पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने प्रेस वार्ता में उक्त जानकारी दी। बताया कि हत्यारों की टोह में लगी पुलिस टीम रात में चक्रमण कर रही थी,उसी दौरान मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि हत्यारा गाजीपुर रेलवे स्टेशन गोलंबर के पास मौजूद है,जो ट्रेन पकड़ कहीं भागने की फिराक में है। उक्त सूचना पाते ही पुलिस टीम स्टेशन गोलंबर के पास पहुंच घेराबंदी कर दी तथा मुखबिर की निशानदेही पर हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया। हत्यारे के पास से पुलिस ने एक कुल्हाड़ी व कपड़ा भी बरामद कर लिया, जिसके द्वारा उसने हत्या की घटना को अंजाम दिया था। गिरफ्तार देवचंद सिंह कुशवाहा पुत्र परशुराम सिंह कुशवाहा ने बताया कि उसके दादा द्वारा पूर्व में कुछ जमीन बेची गई थी और उसका सारा पैसा उसके चाचा रामकरन कुशवाहा पुत्र राम जन्म कुशवाहा ने रख लिया था और हमारे हिस्से का पैसा उसके पिता परशुराम कुशवाहा को नहीं दिया था।
मैं अपनी बीमार बेटी के इलाज के लिए जब अपने चाचा से पैसे की मांग किया तो उन्होंने पैसा देने से इंकार कर दिया इससे क्षुब्ध होकर रंजिशन मैनें चक्की पर सोते समय बाप बेटे को कुल्हाड़ी से वार कर मौत की नींद सुला दिया।आज मैं दिल्ली भागने की फिराक में था कि पुलिस की जद में आ गया। हत्यारे को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी कोतवाली निरीक्षक राजीव कुमार सिंह , थानाध्यक्ष करंडा त्रिवेणी लाल सेन,उप निरीक्षक दिव्य प्रकाश सिंह, शिव कुमार यादव, राम सकल यादव व नसीम अख्तर के साथ आरक्षी राकेश सिंह ,चंदन मणि त्रिपाठी,मुकेश कुमार व धीरज मिश्रा आदि रहे।पुलिस टीम की इस कामयाबी पर पुलिस महानिरीक्षक वाराणसी द्वारा टीम को 20000 रूपये नगद पुरस्कार देने की घोषणा की गई है।


Hits: 15

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: