पूजा पंडालों के साथ विद्यालय में भी बही भक्ति रस की गंगा

गाजीपुर। आदिशक्ति मां जगतजननी जगदम्बा  का महापर्व नवरात्रि का पूरे जनपद में परम्परागत तरीके से श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जा रहा है। एक सप्ताह से पूरा जनपद मां जगदंबा के पूजन और में भक्ति भाव से लगा हुआ है। सैकड़ो स्थान पर मां दुर्गा के विभिन्न रूपों को प्रदर्शित करती हुई प्रतिमा भव्य पूजा पंडालों की शोभा बढ़ा रही हैं। भक्ति गीतों से पूरा क्षेत्र भक्तिमय बनकर गुंजायमान हो रहा है। शहर के विभिन्न इलाकों के साथ ही साथ ग्रामीण अंचल में देवी मंदिरों तथा पूजा पंडालों में मां के प्रतिमाएं का पूजन अर्चन क्षेत्रीय श्रद्धालुओं द्वारा जोर-शोर से चालू है। 

       नवरात्रि में सादात विकास खंड के कम्पोजिट विद्यालय जगदीशपुर में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं ने शनिवार को सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से मन मोह लिया। रंग-बिरंगे परिधानों में सजे नन्हे विद्यार्थियों की रूप-सज्जा, भाव-भंगिमा, और बेहतरीन प्रस्तुति से उनकी प्रतिभा का परिचय दिया। बच्चों ने देवी दुर्गा के भजनों की मधुर प्रस्तुति से तालियां बटोरी तो ‘अयि गिरिनन्दिनि नन्दितमेदिनि विश्वविनोदिनि नन्दिनुते…’, और अम्बे चरण कमल हैं तेरे…’, दुर्गा अमृतवाणी व अन्य भक्ति गीतों की प्रस्तुति से उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। बच्चों ने  के डांडिया नृत्य भी प्रस्तुत किया। सहायक अध्यापिका पूजा त्रिपाठी ने बताया कि छोटे-छोटे बच्चों का गरबा और डांडिया नृत्य के साथ-साथ महिषासुर-मर्दन व नारी-शक्ति का सुंदर चित्रण किया। सबसे प्रमुख आकर्षण का केंद्र देवी दुर्गा के नौ रूपों पर आधारित बच्चों की प्रस्तुति और दस मुखो का मुखौटा लगाये रावण ने दर्शकों का मन मोह लिया। कहा कि संस्कृति और परंपरा हमारी अमूल्य धरोहर है। इस तरह का आयोजन बच्चों में कलात्मक प्रतिभा का निखार लाने के साथ-साथ उन्हें अपनी परंपरा-संस्कृति से भी जोड़े रखने का प्रयास है। अंत में राष्ट्रगान से कार्यक्रम का समापन किया गया।

Hits: 129

Leave a Reply

%d bloggers like this: