समारोह मना महामंडलेश्वर महाराज श्री का आविर्भाव दिवस

श्रद्धालुओं ने पूजन अर्चन कर लिया आशीर्वाद


गाजीपुर। जूना अखाड़े के वरिष्ठ महामंडलेश्वर व सिद्धपीठ हथियाराम मठ के पीठाधीश्वर स्वामीश्री भवानीनंदन यतिजी महाराज का आविर्भाव दिवस मठ परिसर में, हजारों श्रद्धालुओं द्वारा सिद्धपीठ पर श्रद्धापूर्वक सम्पन्न हुआ।
सिद्धपीठ हथियाराम मठ पर अपना 27 वां चातुर्मास महायज्ञ आयोजित कर रहे श्री यति जी महाराज ने कहाकि सिद्धपीठ की पवित्र भूमि पर चातुर्मास महायज्ञ का शौभाग्य किसी भी संत को सिद्ध बना देता है। माता वृद्धम्बिका देवी की कृपा से यहां के कण कण में भगवान हैं। लगभग 700 वर्ष प्राचीन इस तपस्थली पर सिद्धसंतों के तप का प्रकाशपुंज है जहां लकवा जैसे असाध्य रोग से ग्रसित लोग भी दर्शन पूजन करने से स्वस्थ हो जाते हैं।

देश के कोने-कोने से उपस्थित सिद्धपीठ से जुड़े शिष्य गणों को सम्बोधित करते हुए महाराज श्री ने कहाकि जन्म उत्सव के प्रति मेरा कोई उत्साह नहीं है, परन्तु आप श्रद्धालुओं की भावनाओं का सम्मान करना मेरे जीवन का शौभाग्य है। आज के दिन आप सभी श्रद्धालुओं का आशीर्वाद मुझे प्राप्त होता है जो मेरे लिए सौभाग्य का दिन है।
गुरु महिमा पर प्रकाश डालते हुए महाराजश्री ने कहाकि यदि भगवान भी कुछ समय के लिए नाराज हो जाए तो आपका भला हो सकता है लेकिन शर्त यह होनी चाहिए कि आपका गुरु आपसे प्रसन्न रहे। उन्होंने कहाकि सनातन धर्म ही एक ऐसा धर्म है जो विश्व का कल्याण हो के ध्येय वाक्य पर विश्वास करता है।
भारत देश ऋषि व कृषि की प्रधानता रही है। यहां ऋषि कार्य से जहां भगवान राम का अवतार हुआ, वहीं कृषि कार्य से माता सीता की उत्पत्ति हुई। इस तरह से ऋषि व कृषि परंपरा के मिलन से ही भगवान राम सीता का धरती पर अवतार हुआ है। भारत राष्ट्र में कृषि व ऋषि की प्रधानता को नकारा नहीं जा सकता और बगैर इनके रामराज्य की कल्पना भी नहीं की जा सकती है।
इस अवसर पर आचार्य सुरेश जी, डॉ आचार्य संजय जी, आचार्य चित्रसेन जी, आचार्य उपाध्याय जी, डॉ रत्नाकर त्रिपाठी, संत देवराहा बाबा, मानस कथाकार डॉ मंगला सिंह, चंडीगढ़ के पूर्व डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा आईपीएस, गाजीपुर आरएसएस प्रचारक प्रेम सागर जी, काशी जिला प्रचारक डॉ. सुरेश, विभाग कार्यवाह आनंद मिश्रा, विजयशंकर राय, शारदानन्द राय उर्फ लूटूर राय, वरुण सिंह, सुरेंद्र यति, कपिलदेव सिंह, राजेन्द्र सिंह, आनन्द मिश्रा, जंगीपुर विधायक वीरेन्द्र यादव, रमेश यादव, विपिन सिंह, सन्तोष यादव, डॉ. अमिता दूबे, अजीत सिंह सहित हजारों भक्त व श्रद्धालु भक्त उपस्थित रहे।

Hits: 143

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: