सिर चढ़कर बोला पुलिस का भय , लूटेरे ने गले में तख्ती डालकर एसपी कार्यालय में किया आत्मसमर्पण

गाजीपुर। पुलिस अधीक्षक द्वारा अपराधियों, वांछित अभियुक्तों व लूटेरों की गिरफ्तारी हेतु चलाये गये अभियान का भय साफ दिखने लगा है। पुलिस की बढ़ती दबिश और सुरागरसी से थक हारकर लूट के वांछित अभियुक्त ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर पहुंच कर खुद को पुलिस से बचाने की गुहार लगाई।
एक नाटकीय घटनाक्रम में वह गुरुवार को गले में तख्ती लगाये पुलिस अधीक्षक कार्यालय के समीप दिखाई दिया।
उसकी तख्ती पर लिखा था कि एसपी साहव मैं आत्मसमर्पण करने आया हूं, मुझे पुलिस से बचाइए। अब मैं अपराध नहीं करुंगा। यह देखकर वहां उपस्थित लोगों व पुलिस कर्मियों की नजर उस पर पड़ी तो पुलिस ने उसे अपनी गिरफ्त में ले लिया।
वहां उपस्थित पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक नगर, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण और क्षेत्राधिकारी को जैसे ही इसकी सूचना मिली,वे कार्यालय से बाहर निकल आये।
पता चला कि वह अभियुक्त विशाल बिन्द पुत्र रामलखन निवासी महराजगंज थाना कोतवाली सदर रहा। वह अभियुक्त थाना भांवरकोल क्षेत्रांतर्गत एक मैजिक लूट में वांछित था। पुलिस उसकी खोज में लगातार दबिश दे रही थी।
अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राजधारी चौरसिया ने भांवरकोल थाने से पूछताछ की तो बताया गया कि आत्मसर्पण करने वाला युवक लूटकाण्ड में वांछित है।
बताते चलें कि भांवरकोल थाना पुलिस ने लूटी गयी टाटा मैजिक लोडर व घटना में प्रयुक्त बोलरो वाहन सहित चार अभियुक्तों को पूर्व में ही गिरफ्तार कर चुकी है। उसके आत्मसमर्पण की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर आवश्यक कार्रवाई में लग गयी।


Hits: 221

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: