विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से जेल का हुआ निरीक्षण, बन्दियों को दी गयी विधिक जानकारी

गाजीपुर। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशों के अनुपालन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की पूर्णकालिक सचिव, सुश्री कामायनी दूबे, द्वारा विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जेल का निरीक्षण किया गया।
   उन्होंने बंदियों से निःशुल्क अधिवक्ता, जेल लोक अदालत तथा उनकी जेल अपील से संबंधित अन्य समस्याएं पूछी गयी एवं उनके यथोचित अधिकार हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया तथा बंदियों को उनके संवैधानिक अधिकारों के विषय में विस्तृत जानकारी दी गयी। कारागार कारापाल द्वारा बताया गया कि वर्तमान में कारागार में कुल 971 बंदी निरूद्ध है। जिसमें 889 पुरूष, 37 महिला बंदी निरूद्ध हैं व 55 अल्पवयस्क हैं। सभी को नियमानुसार नास्ता व भोजन प्रदान किया जाता है। निरीक्षण के दौरान सिद्धदोष बंदी, विचाराधीन बंदी के अन्तर्गत निरूद्ध बंदी को कोविड-19 को देखते हुए नए बंदियों को पहले आइसोलेट रखने के साथ ही संदिग्ध लक्षण होने पर जांच और सेनेटाइजेशन के निर्देश दिये। सचिव ने जेल के कई बंदियों से बात कर उनकी समस्याओं को समझने के साथ ही शउनके निस्तारण का निर्देश दिया। उन्होंने कारापाल को जिला कारागार में स्थित जेल लीगल क्लीनिक पर विशेष रूप से ध्यान देने के निर्देश दिए ताकि जेल में निरूद्ध बंदियों को समय से व समुचित विधिक सहायता प्राप्त हो सके। इस अवसर पर उप कारापाल कमल चन्द भी उपस्थित रहे।


Hits: 66

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: