ससमारोह मना शिक्षक दिवस

गाजीपुर। शिक्षक दिवस के अवसर पर डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के उपलक्ष्य में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में माध्यमिक शिक्षा विभाग के 75 प्रधानाचार्य एंव शिक्षकों को जिला पंचायत सभागार में मुख्य अतिथि विधान परिषद सदस्य विशाल सिंह चंचल ने अंगवस्त्रम तथा सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया।
      शासन के निर्देश पर माध्यमिक शिक्षा के 75 प्रधानाचार्य एंव शिक्षकों को अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 राजेश कुमार सिंह ने भी सम्मानित किया। कार्यक्रम में जिला विद्यालय निरीक्षक ओ. पी. राय ने बताया कि 75 प्रधानाचार्य एवं अध्यापको में से 38 प्रधानाचार्य/अध्यापक राजकीय वित्त पोषित एवं संस्कृत विद्यालयो से तथा 37 प्रधानाचार्य /अध्यापक वित्त विहीन विद्यालयों से चयनित किये गये है।
    कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ने शिक्षकों का आह्वान किया कि छात्र हित के दृष्टिगत सभी लोग विद्यालय में विभाग/शासन के निर्देशानुसार कार्य करें। शिक्षक दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा सभी शिक्षकों को बधाई देते हुए अपने गुरूजनों को याद करते हुए बताया कि शिक्षक चरित्र सदैव अनुकरणीय होता है। शिक्षक के भीतर यह क्षमता होती है कि वह समाज को दिशा देने का काम करे। अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 राजेश कुमार सिंह ने शिक्षक दिवस के अवसर पर बधाई दी। कार्यक्रम में उपस्थित प्रधानाचार्य जेआरत हुसैन ने वित्त विहीन शिक्षको के समस्याओं के निदान हेतु मुख्य अतिथि से निवेदन किया।
     कार्यक्रम में बड़ी संख्या में प्रधानाचार्य एवं शिक्षक उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन प्रधानाचार्य छवि मिश्र इण्टर कालेज झोटारी द्वारा किया गया।


       *इसी प्रकार बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षक दिवस पर 48 शिक्षकों, 17 एसएमसी अध्यक्ष और 17 ग्राम प्रधानों का सम्मान किया।
     सदर ब्लाक के बबेड़ी स्थित जलसा गार्डन में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में पूरे जिले के शिक्षकों ने भाग लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एमएलसी विशाल सिंह चंचल ने जहां 48 शिक्षकों को सम्मानित किया वही 17 ग्राम प्रधान एवं 17 विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष भी सम्मानित किए गए।
    कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि एमएलसी विशाल सिंह चंचल ने दीप प्रज्वलित कर व डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की प्रतिमा का अनावरण एवं माल्यार्पण कर किया।
   शिक्षक समुदाय को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि विशाल सिंह चंचल ने कहा कि शिक्षक मानवता का कर्ण धार होता है। शिक्षकों के कंधे पर देश के नौनिहालों के भविष्य को संभालने की बड़ी जिम्मेदारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शिक्षकों के हित में कई बड़े फैसले लिए हैं।           कार्यक्रम की अध्यक्षता उप शिक्षा निदेशक सोमारु प्रधान ने किया। मुख्य अतिथि ने 34 परिषदीय स्कूलों के शिक्षक शिक्षिकाएं, कस्तूरबा गांधी विद्यालय के 5 और मान्यता एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों के 8 शिक्षक और राज्य पुरस्कार 2019 के एक शिक्षक को सम्मानित किया। इसके साथ ही विद्यालय में मिशन प्रेरणा के अंतर्गत अच्छा कार्य करने वाले 17 ग्रामप्रधान एवं विद्यालय में सहयोग करने वाले 17 एसएमसी अध्यक्ष को भी प्रशस्ति पत्र और अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया गया।
     जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमंत राव ने बेहतर कार्य करने वाले शिक्षकों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि बहुत जल्द ही हमारा जनपद प्रेरक जनपद के रूप में अपनी पहचान स्थापित करेगा और प्रदेश में भी एक स्थान रहेगा।
  इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में जिला विद्यालय निरीक्षक ओम प्रकाश राय के अतिरिक्त खंड शिक्षा अधिकारी राघवेंद्र सिंह, सुनील सिंह, उदय चंद्र राय, अखिलेश कुमार झा, महेंद्र प्रताप, अविनाश राय, अशोक कुमार, डॉ कल्पना, एआरपी सदर नीरज सिंह, प्रवीण कुमार तिवारी, सुधीर कुमार सिंह, राजीव कुमार सिंह, अभिषेक कुमार एसआरजी, प्रीति सिंह, सुशील कुमार उपस्थित रहे।      अध्यक्षता डायट के प्राचार्य उप निदेशक सोमारू प्रधान एवं संचालन दुर्गेश प्रताप सिंह व आभार ज्ञापन खंड शिक्षा अधिकारी बिरनो अविनाश राय ने किया।*

Hits: 40

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: