संस्कारित शिक्षा आज की आवश्यकता

गाजीपुर (उत्तर प्रदेश), 20 मई 2018। शिक्षा आज की महती आवश्यकता है।शिक्षा से हमें ज्ञान की प्राप्ति होती है, जिसके बल पर हम आगे बढ़कर समाज व राष्ट्र की सेवा कर सकते हैं। उक्त उद्गगार सकल दीप राजभर सदस्य राज्य सभा ने क्षेत्र के पं. मदन मोहन मालवीय इंटर कॉलेज सिखड़ी में आज सत्रारम्भ व छात्र सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि पद से व्यक्त किया। शिक्षकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि छात्र राष्ट्र के भविष्य हैं, इनका उचित मार्गदर्शन कर उच्च स्तरीय शिक्षा प्रदान करें ताकि वे राष्ट्र निर्माण में योगदान कर सकें। इससे पूर्व समारोह का शुभारंभ समारोह के अध्यक्ष प्रभुनाथ चौहान भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य उत्तर प्रदेश तथा मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलित कर तथा मां सरस्वती व पं. मदन मोहन मालवीय के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य पारसनाथ राय ने मुख्य अतिथि व अध्यक्ष को स्मृति चिन्ह व अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया। अपने संबोधन में उन्होंने अतिथियों का परिचय कराने के उपरांत शिक्षा के गिरते स्तर पर चिंता व्यक्त करते हुए इसमें व्यापक परिवर्तन की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि आज सुबिधा सम्पन्न सरकारी विद्यालयों , महाविद्यालयों में अच्छे शिक्षकों के बावजूद लोग अपने बच्चों को प्राइवेट विद्यालयों में भेज रहे हैं क्योंकि हम पर उनकी विश्वसनीय बनी है और हम उनके विश्वास को कायम रखते हुए अच्छी शिक्षा उपलव्ध करा रहे हैं। इससे पूर्व मुख्य अतिथि द्वारा इण्टर की परीक्षा में प्रदेश में पन्द्रहवां तथा जिले में दूसरा स्थान लाने वाली विद्यालय की सर्वश्रेष्ठ छात्रा प्रतिमा मौर्य तथा हाईस्कूल परीक्षा में जिले में आठवां स्थान लाने वाली विद्यालय की छात्रा काजल राय को मेडल व पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।इसी क्रम में शिक्षण व सांस्कृतिक कार्यक्रमोँ में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर छात्र छात्राओं को पुरस्कार देटर अध्यक्ष द्वारा सम्मानित किया गया।कार्यक्रम का शुभारंभ छात्राओं द्वारा मां सरस्वती बंदना से आरंभ हुआ।


समारोह में छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक ज्ञानवर्धक कार्यक्रमों की धूम रही। “अपने बेगानों में मैं बंट गया हूं ,जिंदा हूं लेकिन कट गया हूं” , के भाव गीत को दर्शाते एकांकी ” मां तुझे सलाम ” के तहद छात्रों ने सैनिक भेष भूसा में सीमा पर आतंकी घुसपैठ रोकने की सफल प्रस्तुति कर लोगों में रोमांच पैदा कर दिया। अपनेे अध्यक्षीय सम्बोधन मेें प्रभुनाथ चौहान नेे आज संस्कारित शिक्षा की आवश्यकता पर बल देते हुए छात्रोंं सेे गुुरु केे प्रति समर्पित होकर शिक्षा ग्रहण करने की आवश्यकता पर बल दिया। समारोह में राम अवध पाण्डेय, डा.अजय चौहान, दयाशंकर सिंह, जगदीश सिंह, रामहित राम, अजय सिंह, अशोक सिंह पप्पू, पंकज राय,हनुमान सिंं, चन्द्र शेेेखर राय, रुद्र प्रतापसिंह सहित अनेकोंं विद्यालयोंं ,महाविद्यालयों के प्रबन्धक व प्रधानाचार्यगणों के साथ साथ काफी संख्या मेें गणमान्यजन अभिभावक बन्धु उपस्थित रहे। समारोह का संचालन शिक्षक गौरीशंंकर पाण्डेय आचार्य ने किया।

Hits: 25

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: