प्रेम प्रपंच! अनैतिक सम्बन्धों के चलते जीजा ने ही की साले की हत्या

गाजीपुर(उत्तर प्रदेेश), 5 फरवरी 2018।
शादियाबाद थाना क्षेत्र के चौकड़ी गांव के बेसो नदी के पुल के नीचे रविवार को अलसुबह पाये गये युवक के शव के रहस्य से शादियाबाद पुलिस ने पर्दा उठा दिया। हत्या के पीछे चचेरी बहन से प्रेम का अनैतिक मामला सामने आया है।इसी अनैतिक सम्बन्ध के चलते जीजा ने चाकू के प्रहार से साले की इहलीला समाप्त कर दी।सोमवा

र को


पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने अपने कार्यालय में इसकी जानकारी मीडियाकर्मियों को दी। शादियाबाद पुलिस ने विवेचना के दौरान पाया कि मृतक की हत्या वीभत्स तरीके से चाकू से गोदकर की गई है और इसके उपरांत मृतक को पुल की रेलिंग से नीचे की तरफ फेंका गया है क्योंकि पुल की रेलिंग पर भी खून के निशान मौजूद थे। पुलिस अधीक्षक ने बताया मृतक सचिन कुमार पुत्र बिहारी राम निवासी मलिकपुर मलिकपुर मसौन थाना सैदपुर की शिनाख्त उसके चाचा गिरधारीराम पुत्र शिवपूजन राम निवासी मलिकपुर मसौन थाना सैदपुर ने अपने भतीजे के रूप में की। उन्होंने बताया कि वह शनिवार को सवेरे घर से गाजीपुर पढ़ने है गया था अरुण जब वह शाम तक नहीं लौटा तो हम लोगों ने उसकी तलाश किया परन्तु कोई जानकारी नहीं मिली।इसके उपरांत विवेचना में थानाध्यक्ष शादियाबाद यादवेंद्र पांडेय को जानकारी मिली कि मृतक की चचेरी बहन का विवाह घटनास्थल से थोड़ी ही दूर के गांव मरदानपुर लक्ष्मण थाना बिरनों में हुआ था, जहां मृतक का काफी आना-जाना रहा है। जबकि मृतक का संबंध अपने जीजा से अच्छा नहीं था। इस जानकारी पर पुलिस ने अपने विवेचना की दिशा मृतक के जीजा की ओर मोड़ दी। उसी दौरान पता चला कि मृतक का जीजा मनोहर राम पुत्र जगन्नाथ राम निवासी मरदानपुर लक्ष्मण थाना बिरनों हंसराजपुर के नवपूरा तिराहे के पास मौजूद है। पुलिस ने मुखबिर की निशानदेही पर मनोहर को गिरफ्तार कर लिया।
मनोहर राम के पकड़ में आते ही हत्या के रहस्य का पर्दा खुलता गया। पूछताछ में उसने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए पुलिस को आला कत्ल चाकू , हत्या में प्रयुक्त बाइक तथा खून लगे कपड़े अपने घर से बरामद करा दिया। मनोहर राम ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि सचिन का अवैध संबंध मेरी पत्नी से रहा है । उसी अवैध संबंध के चलते वह मेरे मना करने के बावजूद मेरी पत्नी से बराबर बात करता था और लुक छिप कर मिलता भी था। जब मुझे उनके इस अवैध प्रेम की जानकारी हुई तो मैंने सचिन को कई बार मना किया। जब वह नहीं ,तब मैंने उसे खत्म करने का निश्चय कर लिया। अपनी सोच के अनुसार घटना को अंजाम देने के लिए मैनें रेलवे स्टेशन पर सचिन को बुलाया। उसके साथ दिनभर घूम फिर कर मस्ती की।देर शाम हम लोग हंसराजपुर बाजार से एक बियर की बोतल खरीद क्षेत्र के सुनसान चौकड़ी पुलिया के पास पहुंचे। पुल पर पहुंचने के बाद मैंने सचिन से जब अपनी पत्नी से रिश्ता न रखने को कहा तो वह नहीं माना। इस पर मैंने बियर की बोतल से उसके सिर पर वार कर दिया और जब तक वह संभलता, इससे पूर्व ही मैंने अपने पास लिए चाकू से उसके पेट व शरीर पर कई जगह प्रहार कर उसे पुल से नदी में ढकेल कर मौके से भाग निकला।इस दौरान पुल पर और रेलिंग पर खून के छींटे लग गए थे। हत्याकांड का पर्दाफाश करने में पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक शादियाबाद यादवेंद्र यादवेंद्र पांडेय,उप निरीक्षक सरजू नारायण तिवारी व कृष्णानंद यादव, चौकी प्रभारी हंसराजपुर एस आई सुधाकर राय व सुनील कुमार , मुख्य आरक्षी रघुवंश राय तथा आरक्षी सुधीर कुमार, करुणेश कुमार रहे। हत्या के मात्र 24 घंटे में हत्याकांड का पर्दाफाश करने तथा हत्यारे को गिरफ्तार करने पर पुलिस अधीक्षक ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Hits: 20

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: