कौशल प्रशिक्षण से हर युवा को मिलेगा रोजगार -चेतन चौहान

वाराणसी(उत्तर प्रदेश),26 फरवरी 2018। स्किल डेवलपमेंट प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट है।अभी तक देश में मात्र 10% लोग ही कौशल विकास से पुर्ण है जबकि अन्य देशों में यह दर 60 से 70% के आसपास है।बेरोजगारी दूर करने हेतु आज के समय में शिक्षा के साथ-साथ युवाओं को रोजगार के लिए अपने कौशल को विकसित करने की आवश्यकता है, जिसके लिए सरकार प्रयासरत है।युवाओं में उनके कौशल को विकसित करने हेतु निशुल्क कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना की गई है जिनके माध्यम से युवा अपने हुनर को विकसित कर रोजगार पैदा कर सकता है।उक्त वक्तव्य मंत्री व्यवसायिक शिक्षा एवं उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन चेतन चौहान नें राजकीय आई टी आई करौंदी में वाराणसी व मिर्जापुर मंडल के संयुक्त मंडलीय रोजगार मेला एवं नियुक्ति पत्र वितरण समारोह वाराणसी में मुख्य अतिथि पद से व्यक्त किया।उन्होंने युवाओं से नौकरी के पीछे न भाग स्वयं रोजगार आरम्भ कर दूसरों को भी नौकरी देने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 286 राजकीय आई टी आई कॉलेज है जिनके माध्यम से भी हम युवा वर्ग के हुनर को निखारकर उन्हें रोजगारोन्मुख प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं। इसके लिए प्रशिक्षकों को भी ट्रेनिंग देकर अपडेट किया जाता है ताकि वे उच्च कोटिय प्रशिक्षण दे सकें। उन्होंने बताया कि युवा वर्ग के लिए एक ऐप का निर्माण किया जा रहा है जिसके माध्यम से युवा घर बैठे कौशल विकास केंद्रों की पूर्ण जानकारी लेकर अपना आवेदन पंजीकृत कर सकते हैं। ऐप के माध्यम से ही उन्हें उनके आसपास संचालित प्रशिक्षण केंद्रों की सूची उपलब्ध हो जाएगी जहां से वे प्रशिक्षण पूर्ण कर सकते हैं। इससे पूर्व विशिष्ट अतिथि नीलकंठ तिवारी राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार ने कहा कि प्रधानमंत्री का कहना है कि तरुणाई को हम अपने पैरों पर खड़ा करेंगे ।प्रदेश में इस समय 14 करोड़ आबादी युवाओं की है। इन्हें अपने पैरों पर खड़ा करने के लिए कौशल विकास पर जोर दिया जा रहा है ताकि यह अपने अंदर के हुनर को विकसित कर नौकरी या रोजगार कर बेरोजगारी से मुक्त हो सकें। विधायक रविंद्र जायसवाल ने अपने वक्तव्य में कहा के सभी युवाओं को नौकरी देना संभव नहीं है परंतु सब को रोजगार उपलब्ध कराना संभव है क्योंकि ट्रेंड मैन पावर की मांग हर क्षेत्र में है। इसे देखते हुए कौशल विकास मिशन अंतर्गत विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण की व्यवस्था उपलब्ध है जिसके माध्यम से युवा वर्ग अपने हुनर को विकसित कर रोजगार के अवसर उत्पन्न कर सकता है। युवाओं को संबोधित करते हुए कौशल विकास मिशन उत्तर प्रदेश के प्रबंध निदेशक प्रांजल यादव ने कहा कि आज के इस रोजगार मेले में 868 लोगों को नियुक्ति पत्र वितरित किया जा रहा है और ऐसे मेले समय-समय पर विभिन्न कंपनियों के माध्यम से आयोजित होते रहेंगे ताकि बेरोजगार युवा को नौकरी उपलब्ध कराई जा सके। नियुक्ति पत्र प्राप्त युवाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह नौकरी आप की अंतिम नौकरी नहीं है बल्कि यह तो शुरुआत है।अपने हुनर, अपनी कार्यकुशलता के बल पर जहां भी नौकरी करें, वहां लगन व मेहनत के साथ अपने कार्य को पूर्ण कर अनुभव प्राप्त कर अपने हुनर के बल पर आप आगे बढ़ते रहें। वाराणसी के राजकीय आई टी आई करौंदी के संपन्न इस रोजगार मेले में मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि द्वारा 868 कौशल विकास में प्रशिक्षित युवाओं को नियुक्ति पत्र वितरित किया गया तथा रोजगार मेले में आई 73 कंपनियों द्वारा 8809 प्रशिक्षित युवाओं का साक्षात्कार लिया गया जिसमें से 3327 युवाओं का चयन विभिन्न कम्पनियों द्वारा किया गया। इससे पूर्व समारोह का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया,तदोपरान्त ईश वंदना व स्वागत गान प्रस्तुत कर अतिथियों का स्वागत किया गया।


गाजीपुर से कौशल विकास मिशन के प्रशिक्षण प्रदाता संस्थान कंप्यूटर हाईटेक कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी के प्रबंधक प्रकाश गुप्ता ने मिशन डाइरेक्टर प्रांजल यादव से वार्ता के बाद बताया अनुसार उनके केंद्र से प्रशिक्षण प्राप्त 31 प्रशिक्षणार्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया तथा विभिन्न कंपनियों द्वारा रोजगार प्रदान करने हेतु 79 प्रशिक्षार्थियों का चयन किया गया।समारोह में अतिथियोंं के साथ साथ कौशल विकास मिशन के संयुक्त निदेशक गणों सहित विभिन्न जिलों के प्रशासनिक अधिकारी व शंमारुति सुजुकी, टीवीएस, डोमिनोस, अमेजॉन फ्लिपकार्ट, सिटी लाइफ, जीवन बीमा निगम, शिवम इंटरप्राइजेज,यूनिटेक कंप्यूटर अकादमी सहित अनेकों कंपनियों के पदाधिकारियों सहित विभागीय अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Hits: 21

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: