स्थलीय निरीक्षण में आयुक्त ने ली अधिकारियों की क्लास, चौपाल में सुनी ग्रामीणों की शिकायत

गाजीपुर(उत्तर प्रदेश),2 फरवरी 2018


।परिवहन आयुक्त उ.प्र.गुरू प्रसाद ने गुरुवार को सैदपुर तहसील क्षेत्र के विभिन्न कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर प्राथमिक विद्यालय मिर्जापुर में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं से रुबरु हुए चौपाल में पहुचने से पूर्व उन्होंने
तहसील सैदपुर के शक्करपुर में निर्माणाधीन अग्निशमन केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण किया।कार्यदायी संस्था उ.प्र. आवास एवं विकास
परिषद निर्मांण इकाई गाजीपुर द्वारा बताया गया कि
निर्माण कार्य के मूल स्वीकृत की लागत रू 473.26 लाख है जिसमें प्रथम किस्त रू 186.21 लाख तथा अब तक कुल व्यय 179 लाख रु बताया गया। आयुक्त ने उसके इन्ट्रीप्वाईट तथा पानी के भराव हेतु टंकी के वाटर लेबल की जानकारी लेते हुए बाहर की सडक चौड़ी कराने का निर्देश दिया। ग्राम मिर्जापुर का स्थलीय निरीक्षण करते समय वहां बनाये गये आवास , शौचालयों को देखा और उनका उपयोग करने के सम्बन्ध में जानकारी ली। इसके पश्चात ग्राम मिर्जापुर में लगाये गये चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों

से

उन्होनें प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन,महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामणी रोजगार गारण्टी योजना, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, मिशन अन्त्योदय योजना, राष्ट्रीय निरिक्षित /दिब्यांग पेशन
योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र में कराये गये कार्येा की जानकारी ली और ग्रामीणों की समस्याओं को दूर करने हेतु विभागीय अधिकारियों कों निर्देशित किया। । शौचालय निर्माण हेतु आयुक्त ने तीन लाभार्थियो को मौके पर चेक प्रदान किया। ग्राम में विद्युत विभाग अधिशासी अभियन्ता को रोस्टर के हिसाब से

बिजली

देने का निर्देश दिया। मनरेगा में कराये गये कार्य एवं उसमें कार्यरत मजदूरों तथा उनके द्वारा किये गये कार्य एवं मजदूरी, गांव मे लगाये गये सोलर लाईट, अन्त्योदय कार्ड में दिये जा रहे राशन, प्रधानमंत्री आवास,पेशन के सम्बन्ध आने वाली समस्याओं पर जानकारी ली। समाज कल्याण अधिकारी द्वारा सामुहिक विवाह योजना की

जानकारी

दी गयी। इसके बाद उन्होने सैदपुर से सादात जाने वाली निर्मित सड़क के स्थलीय निरीक्षण के क्रम में एक स्थान पर सड़क की खोदाई कराकर उसकी गुणवत्ता को भी परखा। इसके उपरांत आयुक्त ने तहसील एवं कोतवाली सैदपु

र का

निरीक्षण किया । तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस के आवेदनों के निस्तारण एवं पहले से पेन्डिंग पडे आवेदनों के बारे में जानकारी ली और उनके पेन्डिग होगे और निस्तारण न किये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जल्द से जल्द निस्ताण का निर्देश दिया। तहसील में न्यायालय नायब
तहसीलदार खानपुर में रखे गये किसान ऋण मोचन की फाइलो को व्यवस्थि ढंग से रखने एंव
न्यायालय से सम्बन्धित अविवादित केसों को 15 दिनों में निस्तारण का निर्देश दिया। कोतवाली सैदपुर के निरीक्षण में उन्होनें कैम्पस में वर्षों से पडे़

वा

हनों की निलामी कराने का आदेश दिया।थाना दिवस के रजिस्टर,विवेचना, असलहा
रजिस्टर, मालखाना एंव शस्त्रागार चेक किया और निर्देश दिया कि जो असलहा थाना के सूची में नही है उसे अवैध कर जप्त किया जाये। उन्होंने राजस्व

के

वादों की शिकायत पर ज्वाइन्ट टीम के जाने, थाना में तैनात फोर्स के सम्बन्ध में जानकारी ली। डायल 100 नम्बर के वाहन मे सुविधा हेतु सामाग्री
एवं उसमें लगाये गये एमडीटी को चालू कर चेक किया । उन्होने सभी अधिकारियों को ससमय पेन्डिंग केसों के निस्तारण का निर्देेश दिया। इस अवसर
पर जिलाधिकारी के.बालाजी, मुख्य विकास अधिकारी चन्द्र विजय सिंह, पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा , जिला विकास अधिकारी राकेश कुमार पाण्डेय, एंव जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थि रहे।

Hits: 10

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: