चेतावनी! आंधी-बारिश के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने किया अलर्ट

दिल्ली, 07 मई 2018। प्राकृतिक आपदा के रुप में गत सप्ताह आयी धूल भरी आंधी, तेज बारिश और बिजली गिरने के कारण जहां पांच राज्यों में करीब सवा सौ लोग अकारण मौत के मुंह मे समा गये तो वहीं घायलों के आंकड़े 350 से आगे निकल गये थे। अभी वे दुख के बादल पूरी तरह छंटे भी नहीं कि एक बार फिर गृह मंत्रालय द्वारा देश के करीब 13 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में आज सोमवार को आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश और ओलावृष्टि होने के एलर्ट जारी किये गये हैं। इस आपदा के मद्देनजर हरियाणा में दो दिनों के लिए सरकारी और निजी विद्यालयों को बंद रखने की घोषणा की गई है।
गृह मंत्रालय की सूचना के अनुसार जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कुछ स्थानों में सोमवार को आंधी-तूफान और ओलावृष्टि के साथ बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। वहीं उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गरज-बरज के साथ बारिश और तेज हवाएं चल सकती हैं। असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कुछ स्थानों पर भारी बारिश की आशंका जताई गई है, साथ ही साथ पश्चिमी राजस्थान में भी धूल भरी आंधी और गरज के साथ बारिश की संभावना है।
उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह धूल भरी आंधी, तेज बारिश और बिजली गिरने के कारण पांच राज्यों में 124 लोगों की मौत हो गई थी और 300 से अधिक लोग घायल हो गए थे।


लखनऊ से मिली सूचना के अनुसार कल दोपहर में पश्चिमी यूपी के आगरा व आसपास के इलाकों में आंधी-पानी और ओलों ने दहशत फैला दी। दरअसल, गत सप्ताह आगरा में तूफान से पचास लोगों की जान जाने के बाद रविवार को दोपहर में मौसम के एक बार फिर फिर पलटने पर पुरानी यादों ने रोंगटे खड़े कर दिये । आगरा, फीरोजाबाद, मथुरा और मैनपुरी में तेज आंधी आई। कहीं कहीं मोटी बौछार और ओले भी पड़े। कल दोपहर तीन बजे धूल भरी तेज आंधी की रफ्तार 64 किमी प्रति घंटे की थी। जगनेर, फतेहाबाद, शमसाबाद में बाजार बंद हो गए। एत्मादपुर और बरहन में आंधी के साथ ओले भी पड़े। इससे लोगों में भगदड़ मच गई। खेरागढ़ में तूफान में सबसे अधिक तबाही हुई थी। इसलिए यहां पुलिस ने मुनादी कर लोगों को तूफान की आशंका पर अपने-अपने घरों या सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने की अपील की। मैनपुरी के बरनाहल में इकहरा निवासी अब्दुल खां की 14 वर्षीय बेटी कुसुम गांव के बाहर बकरियां चराने गई थी। आंधी में वह पेड़ के नीचे बैठ गई। पेड़ गिरने से बच्ची की मौके पर ही मृत्यु हो गई।


उल्लेखनीय है कि पांच मई को पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों के कुछ क्षेत्रों में तेज हवा और गरज के साथ बारिश और ओला वृष्टि की संभावना के मद्देनजर विभिन्न जिलाधिकारियों ने सभी विभागों को हर वक्त सतर्क रहने को कहा था। इसके तुरंत बाद एक बार फिर सभी लोगों को सावधानी बरतने को कहा गया है। बताई गयी सूचना अनुसार
मौसम के अप्रत्याशित रवैये से यूपी के गोरखपुर, बस्ती, मऊ, गाजीपुर, अंबेडकरनगर, संतकबीरनगर, बस्ती, कुशीनगर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, पीलीभीत, रामपुर, बरेली, बदायूं, अलीगढ़, एटा, महामाया नगर, मथुरा, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, मुरादाबाद, मेरठ, बिजनौर, मुजफ्फरनगर और बागपत जिले प्रभावित हो सकते हैं। बिहार, उत्तराखंड, दिल्ली और हरियाणा से सटे इलाकों में मौसम अधिक अप्रत्याशित हो सकता है। विस्तृत जानकारी के लिए निम्न लिंक का अवलोकन करें —–https://www.google.com/url?q=http://www.imd.gov.in/section/nhac/dynamic/allindianew.pdf&sa=U&ved=0ahUKEwjXv42d5fLaAhUGbo8KHYvEAusQFggNMAA&usg=AOvVaw0YIdcMdXdbm0d_TeWV_vsx

Hits: 2

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: