राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री के तुगलकी फरमान की हुई निन्दा

गाजीपुर,14 नवंबर 2019। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विषेश सचिव द्वारा प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों को जारी उस पत्र का कड़ा विरोध किया गया, जिसमें निर्देशित किया गया है कि प्रत्येक माह 500 रुपया प्रत्येक कर्मचारी/अधिकारी के वेतन से काटकर मुख्यमंत्री सहायता कोष मे जमा किया जाए।
वक्ताओं ने बताया कि बस्ती के जिलाधिकारी द्वारा निर्गत पत्र वायरल हो गया है जिसमें जिलाधिकारी बस्ती द्वारा दिनांक 11 दिसंबर 2019 को विशेष सचिव के पत्र का मुख्य विकास अधिकारी बस्ती,अपर जिला अधिकारी बस्ती, प्रभारी अधिकारी(बिल्स) कलेक्ट्रेट बस्ती,मुख्य कोषाधिकारी बस्ती, सहायक निदेशक सूचना बस्ती को निर्गत किए गए पत्र व साथ मे शासन द्वारा 4 दिसंबर को निर्गत संलग्न करते हुए में कहा गया है कि कृपया शासन के अर्ध शासकीय पत्र संख्या-0 4 मु ०म०का० लेखा -2 (पी.को.)2019,दिनांक 4 दिसंबर 2019 द्वारा निर्देश प्राप्त हुआ है, जिसमें उल्लेख है कि माननीय मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष में आम जनमानस या स्वैच्छिक संस्थाओं द्वारा दिया गया दान या चंदा जमा होता है। जिसका उपयोग पीड़ित व्यक्तियों की सहायता करने/ राहत प्रदान करने के धर्मार्थ कार्य के लिए होता है। इस संबंध में अपेक्षा की जाती है कि प्रत्येक अधिकारी/ कर्मचारी का प्रत्येक माह रुपया 500 माननीय मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष में कटौती के उपरांत सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, सीबीआई रोड, लखनऊ में जमा कराना सुनिश्चित कराएं, उक्त जमा की गई धनराशि आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 जी के तहत आयकर से पूर्ण मुक्त होगी। इस संबंध में यदि कोई जानकारी प्राप्त करनी हो तो दूरभाष सं०522-2226359 पर संपर्क किया जा सकता है।
बैठक को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि सरकार प्रदेश में सबसे धनी कर्मचारी वर्ग को ही मानती है, इसीलिए उन पर लेवी लगाने की तैयारी है। यह कितना हास्यास्पद है कि सरकार बड़े बड़े व्यापारियों, उद्योगपतियों के तो कर्ज माफ कर उन्हें सहयोग करती है और कर्मचारियों से लेवी वसूली का फरमान जारी करती है। उन्होंने कहा कि यह लेवी सभी कर्मचारियों पर समान रूप से लगाई गई हैं,जबकि इस समय देश या प्रदेश मे कोई आपदा नहीं है। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष ने कहा कि अगर इसमें पेंशनरों के पेंशन की कटौती को भी जोड़ देंगें तो यह राशि करीब 200करोड़ प्रतिमाह सरकारी लेवी बनती है।
उक्त बैठक में बलेन्द्र त्रिपाठी,श्री कान्त राय अभय सिंह,राकेश पांडेय, अनिल कुमार, मनोज सिंह,ओम प्रकाश यादव,राजेश,विनोद पांडेय सहित काफी संख्या में कर्मचारी गण उपस्थित रहे। बैठक की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव व संचालन अरविंद कुमार सिंह ने किया ।

Hits: 42

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply