झटका !गबन की आरोपी गाजियाबाद की निलंबित महिला पुलिस इंस्पेक्टर लक्ष्मी सिंह चौहान पहुंची सलाखों के पीछे

लखनऊ,08 नवम्बर 2019। कहावत है कि तीन छिपाए ना छिपे- चोरी,हत्या, पाप। जी हां, यही हुआ है निलंबित महिला पुलिस इंस्पेक्टर लक्ष्मी सिंह चौहान के साथ। कभी अपराधियों को उनके अपराध के लिए जेल तक पहुंचाने वाली महिला इंस्पेक्टर अपने गबन के कारनामे के साथ आखिरकार स्वयं सलाखों के पीछे जा पहुंची। एक माह तेरह दिन से गाजियाबाद पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर “फरार” चल रहीं 70 लाख रुपए के गबन की आरोपी गाजियाबाद के लिंक रोड थाने की निलंबित महिला पुलिस इंस्पेक्टर लक्ष्मी सिंह चौहान ने आखिरकार थक हारकर मेरठ की एंटी करप्शन कोर्ट में सरेंडर कर दिया।
बताते चलें कि सत्तर लाख रुपये का गबन कर इंस्पेक्टर लक्ष्मी सिंह चौहान व “फरार” चल रहे अन्य सभी 6 आरोपी पुलिसकर्मियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया था।
न्यायालय ने स्थिति की गम्भीरता को समझते हुए आरोपी लक्ष्मी चौहान को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
उल्लेखनीय है कि आरोपी लक्ष्मी सिंह चौहान 25 सितंबर से “फरार” चल रहीं थी और गाजियाबाद पुलिस उनका सुराग लगा गिरफ्तार करने में असफल रही। इससे गाजियाबाद पुलिस की काफी किरकिरी हो रही थी कि 70 लाख रुपए के गबन की आरोपी गाजियाबाद के लिंक रोड थाने की निलंबित इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान के “फरार” है और पुलिस उसे ढूंढ नहीं सकी। इसके चलते राज्य सरकार की जीरो टाॅलरेंस नीति पर बट्टा लग रहा था। कल सुबह इनाम घोषित होते ही अपने बचने की आस खत्म होते ही लक्ष्मी चौहान व अन्य आरोपी पुलिसकर्मियों ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया, जहां से उन्हे जेल भेज दिया।

Hits: 61

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply