काव्‍यसृजन ! काव्‍यगोष्‍ठी में सम्पन्न रचनाकारों ने बांधा समा, “समय की पदचाप”का हुआ लोकार्पण

मुम्बई (महाराष्ट्र),04 नवम्बर 2019। श्रीकृष्‍णा ट्‌यूटोरियल जैसलपार्क भाइंदर ईस्‍ट मुम्‍बई में
राष्ट्रीय साहित्‍यिक सामाजिक व सांस्कृतिक संस्‍था “काव्‍यसृजन” की ७९वीं मासिक काव्‍यगोष्‍ठी डा. जे.पी.बघेल की अध्‍यक्षता में सम्पन्न हुई।
समारोह का शुभारंभ पं. शिवप्रकाश जौनपुरी द्‍वारा सरस्‍वती याचना से हुई। इसके उपरांत काव्यगोष्ठी में उपस्थित कवियों तथ कवित्रियों ने
अपनी भावपूर्ण रचनाओं का पाठ कर श्रोताओं में जोश, उमंग व भक्‍तिरस से सराबोर कर वाहवाही लूटी।काव्‍यसंध्‍या को अपनी मनमोहक भक्‍तिरस से परिपूर्ण जोशीली रचनाओं से मंत्रमुग्ध करने वाले कवि पं. शिवप्रकाश जौनपुरी,मुर्धन्‍य पुर्वांचली, रामकुमार वर्मा,अमरनाथ दूबे,अल्हढ़ असरदार,श्रीनाथ शर्मा,वाचस्‍पति तिवारी,सागर जख्‍मी,रवि यादव,तरुण तन्‍हा रहे।
इसी क्रम में काव्यसृजन में लगी कवयित्रियों ने भी अपने मार्मिक काव्य पाठ से खूब समां बाँधा। अपनी रसभरी मार्मिक गीत कविता प्रस्‍तुत करने वाली कवियित्री डॉ निशा सिंह, संगीता पाण्‍डेय,डॉ सरिता चौबे,नताशा गिरी,मृदुला तिवारी महक प्रमुख रहीं। समारोह का सफल संचालन डॉ. मृदुला तिवारी महक जी द्वारा किया गया।
समारोह के अगले चरण में डॉ. जे.पी. बघेल द्‍वारा रचित पुस्‍तक “समय की पदचाप” का लोकार्पण मुर्धन्‍य पूर्वांचली काव्‍यसृजन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के करकमलों द्‍वारा सम्‍पन्‍न हुआ। अपने अध्‍यक्षीय भाषण में डॉ. जेपी बघेल ने सभी कवियों की कविता पर संक्षिप्त प्रकाश डालते हुए उनके सहयोग हेतु धन्यवाद दिया। अंत में संस्‍था के राष्ट्रीय अध्यक्ष भोलानाथ तिवारी जी ने सभी का आभार व्‍यक्‍त करते हुए समारोह के समापन की घोषणा की।

Hits: 44

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply