राफेल ! रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में प्राप्त किया, वहीं की शस्त्र पूजा और भरी उड़ान

नई दिल्ली, 09 अक्टूबर 2019। फ्रेंच मिलेट्री एयरक्राफ्ट से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल अधिकारियों संग फ्रांस के मेरीग्नैक पहुंच पहला राफेल एयरक्राफ्ट प्राप्त किया । रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोर्डोक्स में ही दशहरे के अवसर पर शस्त्र पूजा की। इस दौरान उन्होंने भारतीय परंपरा का पालन करते हुए राफेल विमान पर ओउम् लिखा। फूल, नारियल और लड्डू चढ़ाए। इसके साथ ही उन्होंने राफेल पर रक्षा सूत्र भी बांधा।
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत में आज दशहरा का त्यौहार है जिसे विजयादशमी के नाम से भी जाना जाता है जहां हम बुराई पर जीत का जश्न मनाते हैं।वहीं 87वां वायु सेना दिवस भी है, इसलिए यह दिन कई मायनों में प्रतीकात्मक बन जाता है। उन्होंने कहा कि राफेल मिलने के बाद भारतीय वायुसेना की ताकत में इजाफा होगा। राफेल शब्द का फ्रेंच में अर्थ ‘आंधी’ होता है। रक्षामंत्री ने कहा कि राफेल अपने अर्थ को साकार करेगा।
फ्रांस के मेरीनेक एयरबेस से राफेल बनाने वाली कंपनी दसॉ के चीफ पायलट के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पायलट की ड्रेस में राफेल विमान में लगभग तीस मिनट तक उड़ान भरी।

बताते चलें कि राफेल दो इंजन वाला लड़ाकू विमान है जिसकी अधिकतम चाल 2,130 किमी प्रति घंटा है। यह एक बार में 24,500 किग्रा वजन उठाकर उड़ने में सक्षम है। इसकी फ्यूल क्षमता 17,000 किलोग्राम है। यह विमान अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगा ओर इसमें मेटेअर मिसाइल भी है। यह मात्र एक मिनट में 60,000 फुट की ऊंचाई तक पहुंच सकता है। यह राफेल विमान परमाणु हथियार ले जाने में पूरी तरह से सक्षम है। इसमें लगी स्कैल्प मिसाइल की रेंज 300 किमी और हथियारों के स्टोरेज के लिए छह माह की गारंटी है।
उल्लेखनीय है कि भारत और फ्रांस के बीच वर्ष 2016 में राफेल विमान का सौदा हुआ था। इसके तहत भारत, फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीद रहा है। साल 2022 तक फ्रांस की तरफ से भारत को सभी राफेल विमान मिल जाएंगे। अगले साल मई 2020 तक पहली खेप में चार राफेल विमान के भारत आने की प्रबल सम्भावना है।

Hits: 16

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply