लांसनायक विश्वामित्र सिंह को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

गाजीपुर, 14 सितम्बर 2019। गोवा में सेना में तैनात लांसनायक विश्वामित्र सिंह 55 वर्ष पुत्र नरसिंह सिंह मूल निवासी ग्राम मेदनीपुर थाना सुहवल जनपद गाजीपुर का शव आज सेना के विशेष वाहन से उनके पैतृक निवास पहुंचा।शव पहुचते ही गांव में कोहराम मच गया। वहां अहाते में उनका शव लोगों के अंतिम दर्शनार्थ रखा गया। वहां मृतक की पत्नी मंजू देवी व अन्य परिजनों का बेहाल रहा।
बताते चलें कि वे 1984 में सेना भर्ती हुए थे जो गत 11 सितंबर की शाम को ड्यूटी जाते समय स्कूटी से गिरकर घायल हो गये थे। उसके बाद उन्हें सिर में गंभीर चोट के चलते कमांड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी। सेना ने इस घटना की जानकारी उनके परिजनों को दी।सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया। वहां आवश्यक कार्रवाई पूर्ण करने के उपरांत के बाद सेना के विशेष विमान से शव को आज गोवा से दिल्ली और फिर वहां से बाबतपुर हवाई अड्डा पहुंचे, जहां 39 जीटीसी के जवानों ने मृत जवान को सलामी दी। इसके बाद वहां से विशेष वाहन से सड़क मार्ग से सेना के जवानों द्वारा शव मेदनीपुर गांव पहुंचाया गया। गांव में उपस्थित लोगों ने तथा पार्थिव शरीर के साथ आए सैन्य कर्मियों ने पुष्प चक्र अर्पित कर जवान को अंतिम विदाई दी। देर शाम सैनिक का अंतिम दाह संस्कार मेदनीपुर श्मशान घाट पर किया गया। मुखाग्नि सैनिक के पुत्र मनोज सिंह ने दी।
श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में पार्थिव शरीर के साथ आए दिलीप कुमार गरुण व सुनील कुमार, ग्राम प्रधान दीपक सिंह, कमलेश सिंह टुन्ना, धर्मेन्द्र सिंह, जयप्रकाश सिंह ,योगेश सिंह, भुवर पांडेय, सतेन्द्र सिंह, बब्बन सिंह, कमल सिंह सहित काफी संख्या में गणमान्य जन व क्षेत्रीय लोग प्रमुख रहे।

Hits: 43

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply