कहर ! प्रकृति के साथ विद्युत विभाग ने भी किसानों को दिया धोखा

गाजीपुर,03 सितम्बर 2019। प्रकृति की बढ़ती गर्मी और सामान्य से काफी कम हुई बरसात से किसानों की बरबाद हो रही फसलों पर विद्युत विभाग ने कहर ढाने में कोई कहर नहीं छोड़ी है। तपती गर्मी में सुख रही फसलों की सिंचाई के लिए बिजली की आपूर्ति जहां समय से नहीं हो पा रही हो,वहीं जले ट्रांसफार्मर किसानों की कमर तोड़ने में लगे हैं। सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में जले ट्रांसफार्मर को शीघ्र बदलकर विद्युत आपूर्ति बहाल करने का दावा सिर्फ कागजी बनकर रह गया है। जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में दो दो माह से ट्रान्सफार्मर जले पड़े हैं और विभागीय अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है। कई बार शिकायतों के बाद भी पिछले बीस दिनों से जले ट्रांसफार्मरों को आजतक नहीं बदला गया।
बानगी के रूप में सदर तहसील के मिरदादपुर का रुख करें तो पता चलता है कि 100 केवीए का ट्रांसफार्मर एक सप्ताह से जला हुआ है, लेकिन विद्युत कर्मियों की लापरवाही के चलते उमस भरी गर्मी में जहां लोग बिलबिला रहे हैं, वहीं किसानों के धान की फसल सिंचाई के अभाव में सूख रही है। विभागीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि सब कुछ जानते हुए भी मौन साधे हुए हैं। पीड़ित किसानों का कहना है कि प्रदेश सरकार ने ग्रामीण अंचलों में कम से कम 18 घंटे बिजली देने का फरमान जारी किया था।सरकार का दावा था कि ग्रामीण क्षेत्रों में 48 घंटे के अंदर जले ट्रांसफार्मर बदलकर आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। इसके लिए टोल फ्री नंबर जारी करते हुए 24 घंटे शिकायत दर्ज कराने व उसके निस्तारण की व्यवस्था भी लागू की गई। कुछ दिनों तक यह व्यवस्था चली, पर बाद में यह व्यवस्था हवा हवाई बन कर रह गयी। मिरदादपुर गांव में 100 केवीए के ट्रांसफार्मर के जलने की शिकायत विभाग के हेल्पलाइन नंबर उसी समय दर्ज कराई गई थी, पर नतीजा वहीं ढाक के तीन पात। बताया गया है कि वाराणसी से शनिवार को आये विभागीय उच्चाधिकारी से जब शिकायत की गयी तो उन्होंने सोमवार को ट्रांसफार्मर उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया था। आज गांव में ट्रांसफार्मर नहीं लगने पर जब उनके मोबाइल पर फोन किया गया तो उनका मोबाइल स्विच आफ मिला। यह तो विभागीय अधिकारियों की मात्र बानगी है। विकास खण्ड मनिहारी के युसूफपुर गांव के दो ट्रान्सफार्मर, तो सिखड़ी गांव के भी दो ट्रांसफार्मर महिनों से जले पड़े है और वहां नये ट्रांसफार्मर पहुचाने के स्थान पर विभागीय अधिकारी कुम्भकर्णी निद्रा में मग्न हैं।
पीड़ित उपभोक्ताओं ने जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए यथाशीघ्र जले ट्रांसफार्मर को बदलने की मांग जनहित में की है।

Hits: 90

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply