ससमारोह मनी गोस्वामी तुलसीदास जयन्ती और वृक्षारोपण कर सुषमा स्वराज को दी गयी श्रद्धांजलि

गाजीपुर, 07 अगस्त 2019। पंडित मदनमोहन मालवीय इण्टर कालेज सिखड़ी में रामचरित मानस के रचयिता महाकवि, भक्त गोस्वामी तुलसीदास जयंती ससमारोह मनाई गई। इस अवसर पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा रामचरितमानस पर आयोजित अंताक्षरी प्रतियोगिता व रामचरितमानस का सस्वर पाठ कर उससे प्रेरणा लेने की सीख दी गई। इससे पूर्व समारोह के मुख्य अतिथि डॉ व्यास मुनि राय ने महाकवि गोस्वामी तुलसीदास के जीवन चरित्र पर विस्तार से प्रकाश डाला।उन्होंने रामचरित मानस को आज की आवश्यकता बताते हुए उनके आदर्शों से प्रेरणा लेकर समाज को नई दिशा देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आज भौतिकतावादी समय में आचार विचार, नैतिकता व संस्कार समाज से दूर होते जा रहे है। नैतिकता और संस्कार को जीवन में धारण करने के लिए रामचरितमानस उचित सीख देता है। समाज के सभी संबंधों और उनके मध्य आचरण का विधिवत वर्णन कर गोस्वामी तुलसीदास ने समाज के सामने एक आदर्श स्थापित किया है। रामचरितमानस में माता पिता,पुत्र,भाई,पति पत्नी, गुरु शिष्य,मित्र व शत्रु सभी तथा प्रकृति प्रेम के आदर्शों का सजीव चित्रण किया गया है। यदि हम उसके अनुरूप आचरण करें तो भारत आज एक बार फिर विश्व गुरु बन सकता है। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि डॉ एके राय ने गोस्वामी तुलसीदास के जीवन आदर्शों से प्रेरणा लेकर समाज हित में कार्य करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि विश्व के उच्च कोटि के 100 ग्रंथों में रामचरितमानस को 46 वां स्थान प्राप्त है। देश के हर हिंदू परिवार में रामचरितमानस के प्रति अपार श्रद्धा और विश्वास है। रामचरितमानस के दोहे और चौपाइयां आज समाज,विज्ञान और पर्यावरण सुरक्षा पर पूरी तरह खरी उतरती हैं।आज जिन समस्याओं से हम ग्रसित हो रहे हैं, उनके निराकरण के उपाय रामचरितमानस में उस समय से ही वर्णित हैं। समारोह के अध्यक्ष विद्यालय के प्रधानाचार्य पारसनाथ राय ने तुलसी जयंती की व्यापकता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज के समय में रामचरितमानस की चौपाइयां भ्रष्ट समाज पर सटीक प्रहार करती हैं। आज समाज से संस्कृति, सभ्यता व संस्कार धीरे धीरे मिटते जा रहे हैं इन्हें बचाने और समाज को नई दिशा देने में रामचरित मानस की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है। उन्होंने छात्र-छात्राओं से उनसे सीख लेने की सलाह दी।समारोह में उपप्रधानाचार्य योगेन्द्र नाथ राय, गौरीशंकर पाण्डेय, ओमप्रकाश पाण्डेय, ज्ञानप्रकाश,श्री प्रकाश तिवारी, विरेन्द्र कुमार आदि उपस्थित रहे।
इसके साथ ही साथ एक अन्य कार्यक्रम में विद्यालय परिवार द्वारा वरिष्ठ भाजपा नेता व पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन पर दो मिनट का मौन रखकर तथा उनकी स्मृति में परिसर में साठ पौधों का वृक्षारोपण कर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर विद्यालय के सभी शिक्षक, कर्मचारी व छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

Hits: 34

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply