प्रधानमंत्री ने किया सदस्यता अभियान का आगाज

वाराणसी,06 जुलाई 2019। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पौधरोपण के बाद दीनदयाल हस्तकला संकुल से भाजपा के देशव्यापी सदस्यता अभियान का आगाज किया।उन्होंने जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनकी 118वीं जयंती पर श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें महान शिक्षाविद और प्रखर राष्ट्रवादी विचारक बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय एकता में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। उन्होंने टोल फ्री नम्बर से शुरू इस सदस्यता अभियान के दौरान पांच सदस्यों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भाजपा संगठन से जुड़े लोगों के साथ ही हजारों क उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कल के बजट की खूबियों को भी बताया। आम बजट पर चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कल आपने बजट के बाद टीवी पर और आज अखबारों में एक बात पढ़ी, सुनी और देखी होगी- वो है पांच ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी। पांच ट्रिलियन इकॉनमी को देश कैसे पा सकता है इसकी दिशा हमने दिखाई है।
प्रधानमंत्री ने एक कविता पढ़कर देशवासियों को हौसला दिलाया।कहा – “वो जो सामने मुश्किलों का अंबार है, उसी से तो मेरे हौसलों की मीनार है। चुनौतियों को देखकर, घबराना कैसा, इन्हीं में तो छिपी संभावना अपार है। विकास के यज्ञ में जन-जन के परिश्रम की आहुति, यही तो मां भारती का अनुपम श्रृंगार है।”
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे पास कोयला, सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा और जल ऊर्जा मौजूद है। इनसे बिजली उत्पादन की क्षमता को आधुनिक तकनीक के उपयोग से हम बढ़ा सकते हैं। इस बार बजट में कचरे से ऊर्जा पैदा करने के अभियान को मजबूती देने के लिए भी प्रावधान किया गया है। देश बड़े संकल्पों और बड़े लक्ष्य की प्राप्ति से ही आगे बढ़ता है। लक्ष्य की प्राप्ति के लिए खुद को समर्पित कर देना चाहिए। पांच-छह वर्ष पहले जब उत्तराखंड में तबाही आई थी तो क्या स्थिति थी। तब कहा जाता था कि केदारनाथ में अब यात्री नहीं आ पाएंगे, लेकिन देखिये पहले से ज्यादा यात्री अब वहां दर्शन के लिए जा रहे हैं। जनता की ताकत असंभव को संभव बना सकती है। एक समय था जब देश अनाज के संकट से जूझ रहा था। हमको विदेशों से अनाज मंगवाना पड़ता था। उसी दौर में शास्त्री जी ने जय जवान-जय किसान का आह्वान किया और देश के किसानों ने अनाज के भंडार भर दिए। पीएम मोदी ने कहा कि कुछ वर्ष पहले क्या किसी व्यक्ति ने सोचा था कि इज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में भारत का स्थान 142 से 77 हो जाएगा। प्रत्यक्ष विदेश निवेश को लेकर भी हमने लक्ष्यों को प्राप्त करके दिखाया।उन्होंने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समर्पित होकर कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया।

इससे पूर्व प्रधानमंत्री ने हवाईअड्डे पर पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा का अनावरण किया। प्रधानमंत्री के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा और भाजपा राज्य इकाई के प्रमुख महेंद्र नाथ पांडेय सहित शास्त्री जी के पुत्र अनिल शास्त्री व सुनील शास्त्री और पूर्व प्रधानमंत्री के रिश्तेदार एवं उत्तर प्रदेश के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह भी मौजूद रहे। शास्त्री की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद मोदी वृक्षरोपण मुहिम ‘आनंद कानन’’ के लिए हरहुआ में बनने वाले आनंद कानन नवग्रह वाटिका में पीपल का पेड़ लगाकर पौधरोपण हेतु रवाना हो गये।

Hits: 27

Author: Dr. A. K Rai

Leave a Reply